पाकिस्तान : मुस्लिम महिला मंदिर में दे रही शिक्षा

0

देश दुनिया में धर्म को लेकर जंग छिड़ी रहती है| भेदभाव के कारण कई मासूमों की जान चली जाती है| भारत और पाकिस्तान के बीच जहां हमेशा ही युद्ध छिड़ा रहता है वहीं पाकिस्तान में एक मुस्लिम महिला मंदिर में जाकर बच्चों को शिक्षित कर सद्भावना की मिसाल कायम कर रही है| पाकिस्तान के कराची में एक मंदिर में हिन्दू बच्चों को मुस्लिम अध्यापिका अनम आगा शिक्षित बनाने का कार्य कर रही हैं| उनकी कक्षा में कई बच्चे आते हैं|

हिन्दू बच्चों को शिक्षित करने का बीड़ा उठाने वाली शिक्षिका ने बताया कि जब बच्चे पढ़ने आते हैं तो वह उन्हें ‘सलाम’ बोलती है, जिसके बाद बच्चे ‘जय श्रीराम’ कहते हैं| मंदिर जहां स्कूल चलाया जा रहा है, वह एक बस्ती के अंदर स्थित है, जहां 80 से 90 हिन्दू परिवार रहते हैं| वे सभी परिवार बहुत गरीब हैं इसलिए वहां के बच्चे स्कूल नहीं जाते थे| यहां के सभी बच्चों को पढ़ाने वाली शिक्षिका अनम का कहना है, “जब हम मंदिर के अंदर अपने स्कूल के बारे में लोगों को बताते हैं तो वे अचंभित हो जाते हैं, लेकिन हमारे पास स्कूल चलाने के लिए और कोई स्थान नहीं है|”

अनम ने आगे बताया कि मुस्लिम परिवारों को यह पसंद नहीं है कि उस इलाके में जाए, न ही हिन्दू परिवारों से मिलना पसंद है| उन्होंने आगे बताया, “अनुसूचित जाति के हिन्दू परिवारों से मुस्लिम मिलना नहीं चाहते, लेकिन मैं यह करती हूं क्योंकि इन लोगों को अपने मूलभूत अधिकारों के बारे में भी पता नहीं हैं| ये बच्चे शिक्षा हासिल करना चाहते हैं| इनमें से कुछ बच्चे पास के स्कूलों में भी पढ़ने गये लेकिन वहां उन्हें सामजिक और धार्मिक समस्याएं पेश आईं| मेरे इस कदम से हिन्दू बुजुर्ग खुश हैं|”

अनम का मानना है, “मैं कभी धर्म पर बात नहीं करती और उनकी भावनाओं को ठेस नहीं पहुंचे इसका ध्यान रखती हूं| मैं विभिन्न विषयों पर उनका ध्यान केन्द्रित करने की कोशिश करती हूं, धर्म इसमें कहीं नहीं आता|”

Share.