दाऊद के साथी को पाकिस्तान ने बताया अच्छा इंसान

0

अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के साथी जबीर मोती को दूसरी बार ब्रिटेन की अदालत ने ज़मानत देने से इनकार कर दिया। वहीं पाकिस्तान सरकार ने उसे ‘अच्छा इंसान’ बताया है। लंदन में वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट्स अदालत में मोती के प्रत्यर्पण के मामले की सुनवाई के वक्त पाकिस्तान उच्चायुक्त साहिबाजादा आफताब अहमद खान की ओर से पत्र न्यायाधीश को भेजा गया। पत्र में जबीर मोती की रिहाई का समर्थन किया गया, जिसे अदालत ने खारिज करते हुए अगली सुनवाई 19 अक्टूबर को करने की बात कही।

ब्रिटेन की अदालत में मोती को डी कंपनी का शीर्ष सहयोगी बताया गया है। मुंबई बम धमाके के आरोपी दाऊद इब्राहिम का ब्रिटिश अदालत में नाम नहीं लिया गया। हालांकि न्यायाधीश को बताया गया कि नेटवर्क का नेता पाकिस्तान में रहता है। बता दें कि जबीर मोती को लंदन के एक होटल से कुछ दिन पहले गिरफ्तार किया गया था। मोती पर मनी लॉन्ड्रिंग और रंगदारी के मामले में अमरीका प्रत्यर्पण का केस चला रहा है।

दाऊद इब्राहिम का करीबी – जबीर मोती

1993 मुंबई बम धमाकों का आरोपी दाऊद इब्राहिम जबीर मोती लंदन में गिरफ्तार किया गया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मोदी को लंदन की चारिंग क्रॉस पुलिस ने पिछले हफ्ते हिल्टन होटल से गिरफ्तार किया था। कहा जा रहा कि जबीर से पूछताछ में डी कंपनी के संबंध में ज्यादा जानकारी मिल जाएगी और दाऊद के कई राज़ सामने आएंगे। ब्रिटेन की एजेंसियां उससे वहां पर होने वाली वारदातों में डी कंपनी के शामिल होने संबंधी और ब्रिटेन में उसकी कार्यप्रणाली की जानकारी जुटाने का भी प्रयास करेंगी।

वित्तीय कामकाज संभालता है

जबीर मोती डी कंपनी का वित्तीय कार्य देखता है। वही इसका इंचार्ज है। मोती के पास पाकिस्तान की नागरिकता है। दाऊद की पत्नी महजबीं को मोती पर काफी भरोसा है। मोती मिडिल ईस्ट, ब्रिटेन, यूरोप, अफ्रीका में दाऊद का कार्य संभालता है।

दाऊद इब्राहिम को बड़ा झटका

छोटा शकील ने छोड़ा दाऊद इब्राहिम का साथ

दाऊद का नाम आतंकियों की सूची में

Share.