पाकिस्तान को आर्थिक संकट से उबार सकता है सिर्फ भारत

0

पाकिस्तान में आम चुनाव हो गए, जिनमें पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी ने बढ़त दर्ज करवाई| इसके बाद यह तय हो गया कि पाकिस्तान के अगले प्रधानमंत्री के पद पर इमरान खान ही नज़र आएंगे| आम चुनाव में जीत हासिल करने के बाद इमरान ने अपने पहले भाषण में भारत के साथ कारोबार करने पर जोर दिया था|

राजनेता इमरान खान के भाषण से भारतीय उद्योग जगत के दिग्गज बहुत खुश हुए थे| अब एसोचैम ने कहा है कि यदि पाकिस्तान को आर्थिक संकट से उबरना है तो उसे चीन और ईरान के साथ नहीं बल्कि भारत के साथ कारोबारी रिश्तों को मजबूत बनाने पर ध्यान देना चाहिए| सिर्फ भारत ही पाकिस्तान को आर्थिक संकट से बाहर ला सकता है|

अब कहा जा रहा है कि राजनेता इमरान खान कुछ दिन बाद जब प्रधानमंत्री पद संभालेंगे, तभी वे पाकिस्तान की आर्थिक चुनौतियां कितनी बड़ी है, यह महसूस कर पाएंगे| उन्होंने अपने भाषण में जिन समस्याओं का जिक्र किया है, उनका समाधान खोजना आसान काम नहीं होगा, इनके लिए लंबे समय तक योजनाओं पर काम करना होगा|

एसोचैम ने अपनी बात क्रिकेट की भाषा में भी पूर्व क्रिकेटर और राजनेता इमरान खान को बतानी चाही| उन्होंने कहा, “दूसरी पारी में बॉलिंग तभी कारगर होती है, जब आपने बहुत ज्यादा स्कोर किया है| इमरान खान के समक्ष हर तरह की आर्थिक चुनौतियां हैं| एक तरफ दिसंबर, 2017 के बाद से वहां का केंद्रीय बैंक रुपए की कीमत दो बार गिरा चुका है| इमरान खान की सरकार भारत सरकार के साथ इन उत्पादों के आयात की सहूलियत को लेकर समझौता कर सकती है|”

एसोचैम ने पाकिस्तान की समस्या के समाधान का फॉर्मूला निकालते हुए कहा है कि उसे आने वाले दिनों में पांच अहम उत्पादों के आयात की ज़रूरत होगी| इसमें रिफाइन्ड पेट्रोलियम उत्पाद, कंप्यूटर्स, इलेक्ट्रॉनिक मशीनरी, लौह व इस्पात व ऑटोमोबाइल खास होंगे|

यह खबर भी पढ़े – ड्रग्स लेते थे इमरान खान, पत्नी ने किए कई खुलासे

यह खबर भी पढ़े – OMG दुनिया में सबसे ज्यादा इस देश में है महंगाई

यह खबर भी पढ़े – क्या भारत आ रहा है माल्या? मिल रहे हैं संकेत…

Share.