ओणम का त्यौहार आज, 10 दिनों तक होती है पूजा, आज है ख़ास

0

ओणम श्रावण शुक्ल की त्रयोदशी तिथि को मनाया जाता है| यह त्यौहार 10 दिन तक चलता है| यह केरल के प्रमुख त्यौहारों में से एक है| केरलवासी पूरे दस दिन तक अपने घरों को फूलों  से सजाते हैं, खुद तैयार होते हैं, रंगोलियां बनाते हैं| अच्छा- अच्छा भोजन बनाते हैं| पूरे दस दिन तक केरल में ख़ुशी का माहौल रहता है| इस बार त्यौहार 15 अगस्त से शुरू हो गया, जो 27 अगस्त तक चलेगा| इन दस दिनों में आज का दिन यानी 24 अगस्त बहुत ख़ास माना जाता है|

Chennai: College students celebrate Onam festival by decorating “Pookalam” at their College campus in Chennai on Wednesday. PTI Photo (PTI8_26_2015_000112A)

यह त्यौहार दशहरे की तरह ही होता है| यह इसीलिए मनाया जाता है क्योंकि इन दिनों केरल में चाय, अदरक, इलायची, काली मिर्च तथा धान की फसल पककर तैयार हो जाती है और लोग फसल की अच्छी उपज की खुशियां मनाते हैं| अपने घरों को सजाते हैं| इस मौके पर कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है| इनमें नौका रेस, नृत्य जैसे आयोजन होते हैं|

जानिए क्यों मनाते हैं  

प्राचीन मान्यता के अनुसार, कहा जाता है कि एक समय महाबली नाम का एक असुर राजा था और उसी के आदरस्वरूप लोग ओणम पर्व मनाते हैं| यह भी कहा जाता है कि ओणम के दिन ही राजा महाबली ने भगवान विष्णु से अपनी प्रजा से साल में केवल एक बार मिलने की अनुमति मांगी थी| इसलिए यह माना जाता है कि ओणम त्योहार में स्वयं भगवान विष्णु धरती पर उतरते हैं और अपने भक्तों से मिलते हैं, उनकी इच्छाएं पूरी करते हैं|

लोग आंगन में महाबली की मिट्टी की बनी त्रिकोणात्मक मूर्ति पर अलग-अलग फूलों से चित्र बनाते हैं| पहले दिन फूलों से जितने गोलाकार वृत बनाई जाती हैं| दसवें दिन तक उसके दसवें गुने तक गोलाकार में फूलों के वृत रचे जाते हैं यह माना जाता है कि  तिरुवोणम के तीसरे दिन महाबलि पाताल लोक लौट जाते हैं| जितनी भी कलाकृतियां बनाई जाती हैं, वे महाबलि के चले जाने के बाद ही हटाई जाती है| यह त्योहार केरलवासियों के साथ पुरानी परम्परा के रूप में जुड़ा है|

वहीं इस बार केरल में आई आपदा के कारण केरल समाज के लोगों ने निर्णय लिया है कि वे त्यौहार नहीं मनाएंगे| उत्सव के लिए जो राशि एकत्र की थी, उसे भी समाजबंधुओं ने केरल बाढ़ प्रभावितों की सहायता के लिए प्रधानमंत्री नेशनल रिलीफ फंड में दान कर दी है|

Share.