ओला-उबर के ड्राइवरों की खैर नहीं, मनमानी की तो देना होगा जुर्माना

0

क्या आप कभी ओला-उबर के ड्राइवरों की मनमानी से परेशान हुए हैं? क्या कभी ऐसा हुआ है कि आपने ऑनलाइन कैब बुक की हो और ड्राइवर ने आखिर समय में आने से मना कर दिया? अब यदि ऐसा हुआ तो आपको परेशान होने की ज़रूरत नहीं है| दरअसल, अब केजरीवाल सरकार एक नीति लाने जा रही है, जिसमें ऑनलाइन कैब कंपनी के ड्राइवरों की लापरवाही के कारण उन्हें जुर्माना भुगतना होगा|

केजरीवाल सरकार द्वारा बनाई जा रही नीति के अनुसार, यदि कोई यात्री कैब ड्राइवर के गलत व्यवहार या उसके द्वारा छेड़खानी या किसी अन्य तरह की शिकायत करता है तो ऐसे में यात्री पुलिस से शिकायत कर सकता है| यदि ड्राइवर दोषी पाया जाता है तो उस पर 1 लाख रुपए तक का जुर्माना लगाया जा सकता है|

यह नई नीति ‘लाइसेंसिंग एंड रेगुलेशन एप बेस्ड एग्रिगेटर रुल्स 2017’ और ‘सिटी टैक्सी स्कीम 2017’ पीडब्ल्यूडी मंत्री सत्येंद्र जैन मंत्री की अध्यक्षता में बन रहा है| ऐसा माना जा रहा है कि इस नीति को जल्द ही अंतिम रूप देकर दिल्ली कैबिनेट में पेश किया जाएगा| एक बार जब यह नियम लागू हो जाएगा तो एप के जरिये कैब चलाने वाली कंपनियों को दिल्ली में ऑपरेट करने के लिए परिवहन विभाग से लाइसेंस लेना होगा| नई कैब नीति से यात्रियों के डेटा और यात्रा दोनों सुरक्षित होने वाली है, इस नीति के अनुसार सभी गाड़ियों में एक पैनिक बटन भी लगाया जाएगा|

धर्म, जाति  के आधार पर भेदभाव ख़त्म

यह नीति लागू होने के बाद उन ड्राइवरों पर भी लगाम लगेगी, जो धर्म, जाति  के आधार पर यात्रियों को बैठाने से मना कर देते हैं| यात्री यात्रा के दौरान अपनी लोकेशन और कैब की जानकारी एप के माध्यम से दो लोगों को भेज सके, यह भी नया सुविधा फीचर जोड़ा जा रहा है|

ओला-उबर में राइड शेयरिंग पर नई सुविधा..

Share.