भारतीय रेल का नया फैसला

0

पहले भारतीय रेल द्वारा जो सेवा फ्री दी जाती थी, अब यात्रियों को उसके लिए पैसे चुकाने होंगे। जी हां, भारतीय रेलवे अब एक सितंबर से यात्रियों को मुफ्त यात्रा बीमा का लाभ नहीं देगा।  रेलवे सितंबर से फ्री में मिलने वाली एक सेवा बंद करने जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ यात्रियों को कुछ राहत देने के लिए रेलवे अगले महीने फ्लेक्सी फेयर योजना में बदलाव की भी योजना बना रहा है। अभी थोड़े समय पहले ही रेलवे ने अपनी ट्रेनों के समय में कुछ बदलाव किया था।

दरअसल, अभी तक आप जब भी भारतीय रेलवे के ऑनलाइन प्लैटफॉर्म irctc.co.in से टिकट बुक कराते हैं तो पैसेंजर को ट्रैवल इंश्योरेंस का लाभ बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के मिलता है, लेकिन अब रेलवे ने इस सुविधा में बदलाव करते हुए यह फैसला किया है कि आपको रेलवे अब ट्रैवल इंश्योरेंस खुद नहीं देगा। बीमा का प्रावधान वैकल्पिक होगा।  रेल मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आईआरसीटीसी ने एक सितंबर से मुफ्त यात्रा बीमा की सुविधा बंद करने का फैसला किया है।

अब यह यात्रियों पर निर्भर करेगा कि उन्हें इंश्योरेंस लेना है या नहीं। ऑनलाइन टिकट बुक करवाते समय ही ऑप्शन ‘ऑप्ट इन’ (चाहिए) और ‘ऑप्ट आउट’ (नहीं चाहिए) दोनों ऑप्शन में से एक ऑप्शन चुनना होगा। डिजिटल लेनदेन को प्रोत्साहन देने के लिए आईआरसीटीसी ने रेलयात्रियों के लिए दिसंबर 2017 में मुफ्त यात्रा बीमा शुरू किया था।

आईआरसीटीसी द्वारा प्रदत्त बीमा के तहत यात्रा के दौरान दुर्घटना में यात्री की मौत होने की स्थिति में अधिकतम 10 लाख रुपए तक बीमा का प्रावधान किया गया था। वहीं, यात्रा के दौरान दुर्घटना में अपाहिज होने पर 7.5 लाख रुपए, घायल होने पर दो लाख रुपए और शव के परिवहन के लिए 10,000 रुपए का प्रावधान किया गया था। हालांकि बीमा के लिए  कितना अतिरिक्त शुल्क लिया जाएगा, यह फिलहाल साफ़ नहीं है।

Share.