बच्चों के साथ नौकरी कर सकेंगी महिलाएं

0

लगभग पांच वर्षों की जंग के बाद आखिर अनंदिता पुजारी को जीत मिल ही गई| आंदोलन के बाद अब सुप्रीम कोर्ट को भी नए नियम बनाने पर मजबूर होना पड़ा| अब कोर्ट परिसर में महिला जज और वकीलों के साथ उनके बच्चे भी नजर आने वाले हैं|

अब सुप्रीम कोर्ट में पहली बार क्रेच शुरू होने जा रहा है| इस क्रेच में 30 बच्चों के रहने की सुविधा होगी, जो सुबह 10 से शाम 5 बजे तक खुला रहेगा| दरअसल, महिला वकील अनंदिता पुजारी ने पांच वर्ष पहले बेटी की देखभाल के कारण हो रही परेशानी को देखते हुए सुप्रीम कोर्ट परिसर में क्रेच खोलने का अभियान शुरू किया था| इस अभियान से धीरे-धीरे कई महिला वकील और जज भी जुड़ती चली गईं और आखिरकार क्रेच बनाने की मांग को मान लिया गया|

कोर्ट परिसर में आधुनिक तरीके का क्रेच बनाया गया है, जहां 6 वर्ष तक के बच्चों को रखा जा सकेगा| इसके लिए 2500 रुपए लिए जाएंगे| बच्चों के लिए खास स्लिपिंग रूम और एक्टिविटी एरिया भी बनाया गया है| इसमें मॉडर्न किचन के साथ 20 सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए हैं ताकि बच्चों की गतिवधियों पर नजर रखी जा सके|

Share.