website counter widget

Infosys ने मुनाफे के लिए अपनाये अनैतिक तरीके

0

मुंबई: देश दिग्गज आईटी (Information Technology) कंपनी इन्फोसिस (Infosys) पर गंभीर आरोप लगे है. एक खुलासे में पटक चला है कि कंपनी ने अपना मुनाफा और आमदनी को बढ़ाने के लिए अनैतिक कदम उठाए है. इस पूरे मामले को लेकर एक ग्रुप ने इन्फोसिस के बोर्ड को चिट्ठी लिखकर इसकी जानकारी दी है. इन्फोसिस ने पिछले हफ्ते अपने तिमाही नतीजों की घोषणा की थी.  जुलाई-सितंबर तिमाही में आईटी कंपनी इंफोसिस का मुनाफा 5.8 फीसदी बढ़कर 4019 करोड़ रुपये हो गया है. वहीं, इस दौरान कंपनी की आमदनी 7 फीसदी बढ़कर 23,255 करोड़ रुपये हो गई है.

भाजपा नेता का बयान, भारत पर बड़ा हमला करेगा पाकिस्तान

व्हीसल ब्लोअर्स (whistleblowers) की तरफ से अमेरिकी शेयर बाजार के रेग्युलेटर यूएस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन ( US Securities and Exchange Commission) को भी एक चिट्ठी 27 सितंबर को दी गई है. इंफोसिस बोर्ड को दी गई चिट्ठी में खुलासा किया गया है. कि इन्फोसिस ने अपने मुनाफे और आमदनी को बढ़ाने के लिए अनौतिक कदम उठाया है. कंपनी के मौजूदा सीईओ सलिल पारेख भी इसमें शामिल है. सलिल पारेख बड़ी डील में मार्जिन्स को बढ़ा-चढ़ाकर दिखाने के लिए दबाव बनाते है. साथ ही, आमदनी और मुनाफे का गलत अनुमान बताने को कहते हैं. इन्फोसिस के सीएफ नीलांजन रॉय भी इसमें शामिल है. अब व्हीसल ब्लोअर्स की चिठ्ठी के आधार पर कंपनी ने जांच शुरू कर दी है.

Kamlesh Tiwari Murder Case : राजनीतिक दलों पर कुमार विश्वास ने उठाए सवाल  


सलील पारेख को 2 जनवरी 2018 को इन्फोसिस का एमडी और सीईओ बनाया गया. इससे पहले सलिल पारेख कैपजेमिनी इंडिया के डिप्टी सीईओ और एक्जिक्यूटिव चेयरमैन रह चुके हैं. सलील पारेख को 24.67 करोड़ रुपए का वेतन पैकेज मिला है. उन्हें निश्चित वेतन के रूप में 6.07 करोड़ रुपए मिलते है और 10.96 करोड़ रुपए बोनस के तौर पर दिए जाते है।

बापू को राष्ट्रपिता नहीं मानती साध्वी प्रज्ञा, कहा…

-Mradul tripathi

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.