50 खतरनाक बम के बाद, अब बंगाल से पकड़ाए ISIS संदिग्ध

0

पश्चिम बंगाल (West Bengal) में हिंसक घटनाएं, राजनीतिक पार्टियों के कार्यकर्ताओं की हत्या और झड़प आम बात हो गई है। कल यानी सोमवार को जहां बंगाल में पुलिस को 50 खतरनाक बम मिले थे, वहीं अब राज्य से आईएसआईएस (ISIS )  के कई आतंकियों को गिरफ्तार किया गया है। इन सब घटनाओं के बाद बंगाल (Bengal) को आतंक का गढ़ माना जा रहा है। एसटीएफ (Special Task Force) ने कोलकाता (Kolkata) के सियालदाह रेलवे स्टेशन (Sealdah railway station) से आईएसआईएस (ISIS ) के 4 संदिग्धों को गिरफ्तार किया।

जानकारी के अनुसार, कोलकाता (Kolkata) में पकड़ाए 4 संदिग्धों में से 3 बांग्लादेश (Bangladesh) के नागरिक हैं। वहीँ एक व्यक्ति भारतीय है, जो तीनों को छिपाने का काम करता था। पूछताछ में यह बात भी सामने आई है कि चारों संदिग्धों का उद्देश्य आतंकी संगठन आईएसआईएस के लिए भर्ती करना और पैसा इकट्ठा करना था। ये लोगों युवाओं को सोशल मीडिया के जरिये भटकाते भी थे। इनके पास से कई डिजीटल डॉक्यूमेंट्स, जिहादी बुकलेट्स, वीडियो और ऑडियो फाइलें भी मिली हैं, जिनकी जांच की जा रही है।

जांच में एक व्यक्ति ने बताया कि उनके संगठन का मुख्य उद्देश्य भारत और बांग्लादेश में लोकतांत्रिक सरकार को हटाकर शरिया कानून स्थापित करना है। उनके जैसे ही कई अन्य लोग भारत और बांग्लादेश में इस कार्य में लगे हुए हैं, जो युवाओं की एक फ़ौज तैयार कर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन और हिंसक घटनाओं को अंजाम देते हैं। इसके बाद कोलकाता पुलिस द्वारा जारी बयान के अनुसार, एसटीएफ ने पुख्ता जानकारी के आधार पर  दो बांग्लादेशी नागरिकों को गिरफ्तार किया, जो मात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश के सदस्य हैं।

इसके पहले सोमवार को बंगाल के उत्तरी 24 परगना के भाटपाड़ा से पुलिस ने 50 बम बरामद किये थे। भाटपाड़ा में तृणमूल कांग्रेस और भाजपा के समर्थन वाले दो गुटों के बीच आपसी हिंसा में दो लोगों की मौत और लगभग एक दर्जन लोगों के घायल होने के बाद वहां बम मिलने के कारण शक हिंसा करने वाले लोगों पर ही किया जा रहा था।

Share.