VIDEO : उधारी नहीं चुका पाई महिला, तो खंभे से बांधा और…

0

कर्ज नहीं चुका पाने के बाद अक्सर सूदखोर लोगों पर जुल्म करते हैं, पैसे उगाही के लिए कई पैंतरे भी अपनाते हैं। ऐसे ही एक महिला जब अपना कर्ज नहीं चुका पाई तो उसके साथ अमानवीय कृत्य किया गया। महिला को खंभे से बांधा गया (Woman Tied To Pole In Kodigehalli) और फिर उसके साथ मारपीट भी की गई। ऐसी खबरे उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh)  या बिहार (Bihar) जैसे राज्यों से ही ज्यादा आती हैं, लेकिन इस बार यह खबर बेंगलुरु (Bengaluru) से आई है।

भारत की 57 कंपनियां फोर्ब्स मैगजीन की सूची में

Video Woman Tied To Pole In Kodigehalli :

बेंगलुरु के कोडिगेहल्ली (Woman Tied To Pole In Kodigehalli) इलाके में सड़क के किनारे महिला के साथ हो रही अमानवीय घटना को लोग देखते रहें। इतना ही नहीं महिला को छुड़ाने के बजाय सभी महिला का वीडियो बना रहे थे। इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जानकरी के अनुसार, राजमणि अपनी बेटी के साथ बेंगलुरु के बाहरी इलाके में दो साल से रह रही थी। वह खुद का एक भोजनालय और  चिट फंड व्यवसाय चला रही थी। उसने अपने कार्य के लिए कुछ लोगों से 50,000 रुपये उधार लिए। काफी समय हो जाने के बाद भी जब महिला कर्ज नहीं लौटा पाई, तो सूदखोरों ने महिला को पकड़कर खंभे से बांध दिया और उसकी पिटाई की।

Junior Doctors Strike : बंगाल बवाल के बाद पूरे देश में डॉक्टरों की हड़ताल

महिला (Woman Tied To Pole In Kodigehalli) के घर के पास रहने वाले लोगों ने बताया कि पिछले कई दिनों से उधारी देने वाले लोग राजमणि के घर के चक्कर लगा रहे थे। गुरुवार को जब महिला घर आई तो उसके साथ दुर्व्यवहार किया गया। घटना के दौरान ही एक व्यक्ति ने वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची और पीड़िता को छुड़ाया। इस मामले में सात लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस का कहना है कि शिकायत दर्ज कर ली गई है, जिन लोगों ने इस अमानवीय घटना को अंजाम दिया है, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। महिला को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

Bishkek SCO Summit 2019 Live : मोदी ने इमरान को मुड़कर भी नहीं देखा

देश में महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों में कमी नहीं आ रही है।  जहाँ बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं वहीं असहाय महिलाओं की प्रताड़ना के मामले भी लगातार बढ़ रहे हैं।  इन सभी मामलों में मूकदर्शक बनी भीड़ भी उतनी ही गुनेहगार होती है, जितना की आरोपी होता है।

Share.