website counter widget

डॉक्टरों ने की सर्जरी तो पेट से निकला 52 किलो प्लास्टिक

0

चेन्नई :प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में ‘सिंगल यूज प्लास्टिक ने निजात पाने के लिए मुहीम चलाई है। जिसमे लोगो को जागरूक किया जा रहा है की वह प्लास्टिक का उपयोग न करे उसके स्थान अन्य विकल्प ढूढे क्योकि इससे पर्यावरण तो ख़राब हो ही रहा है साथ ही बेजुबान जानवर इसे खा लेते है जिससे उनकी मृत्यु हो जाती है। सिंगल यूज प्लास्टिक वह होते है जिनका उपयोग हम एक बार करके उसे फेक देते है. जैसे पानी की बॉटल पॉलीथीन इत्यादि।

सिंगल यूज प्लास्टिक का घातक परिणाम का उदाहरण चेन्नई के तमिलनाडु(Tamil nadu)  में देखने को मिला जिसमे गाय के पेट से 52 किलों प्लास्टिक निकला। जानकारी के अनुसार गाय को लगातार दर्द की शिकायत थी.  दर्द की वजह से गाय अक्सर अपने ही पेट पर लात मारती थी. इन प्लास्टिक्स की वजह से ही उसे दर्द होता था. इतना ही नहीं प्लास्टिक खाने की वजह से उसके दूध उत्पादन की क्षमता भी घट गई थी. इसके साथ ही उसे पेशाब करने और मल त्यागने में भी दिक्कत का सामना करना पड़ता था. जिसके बाद गाय को इलाज के लिए थिरुमुल्लईवोयल से वेपेरी  लाया गया था. जहा पशु चिकित्सकों(Veterinarians) को गाय के पेट से प्लास्टिक को बाहर निकालने में करीब पांच घंटे का वक्त लगा जिसमे पेट से 52 किलो प्लास्टिक (Plastic) और नॉन बयोडिग्रेडेबल प्रॉडक्ट्स निकले हैं.

संस्थान के निदेशक एस. बालासुब्रमण्यम कहते है ”इस घटना से प्लास्टिक के कारण उत्पन्न होने वाले खतरे को समझा जा सकता है. यह जानवरों के लिए जानलेवा है. भले ही हमने अतीत में इस तरह की सर्जनी की हैं. मगर किसी गाय के पेट से 52 किलोग्राम प्लास्टिक का पाया जाना चिंताजनक है.” इससे पूर्व में प्लास्टिक खाने से हजारों जानवरों की मृत्यु हो चुकी है।

-Mradul tripathi

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.