खुशखबरी : पेट्रोल की जरूरत नहीं, अब पानी से दौड़ेंगी गाड़ियां

0

पेट्रोल और डीजल की कीमतें लगातार बढ़ती जा रही हैं। इसके अलावा देश में बढ़ते प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए लगातार प्रयास जारी हैं। अब इन दोनों ही समस्यायों से बेहद जल्द छुटकारा मिल सकता है। ( Vehicle will run ) दरअसल जल्द ही गाड़ियां पेट्रोल या फिर डीजल से नहीं बल्कि हाइड्रोजन से दौड़ती हुई नज़र आएंगी। दरअसल यूएनएसडब्ल्यू (UNSW) के नेतृत्व वाली वैज्ञानिकों की टीम ने हाइड्रोजन ऊर्जा का बेहद सस्ता और सुलभ समाधान खोज निकाला है। अब यह नयी खोज भारत में बेहद ही ज्यादा कारगर साबित होगी। इस खोज से गाड़ी में ईंधन की जरूरत नहीं पड़ेगी। जब ईंधन नहीं होगा तो प्रदूषण नहीं होगा।

अक्षय कुमार की अमित शाह को सलाह

दरअसल ऑस्ट्रेलिया के सिडनी स्थित  न्यू साउथ वेल्स यूनिवर्सिटी (यूएनएसडब्ल्यू), ग्रिफिथ यूनिवर्सिटी और स्वाइनबर्न यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने मिलकर हाइड्रोजन को पानी से अलग करने का सफल परीक्षण किया है। ( Vehicle will run ) दरअसल इस प्रयोग में वैज्ञानिकों ने हाइड्रोजन को सोखने के लिए पानी में से ऑक्सीजन को अलग करने का सफल प्रयोग किया। सबसे अच्छी बात यह है कि इस प्रक्रिया में लोहा और निकल जैसी काम लागत वाली धातुओं का प्रयोग उत्प्रेरक के रूप में किया जा सकता है। वहीं पानी से हाइड्रोजन को अलग करने के लिए बेहद कम ऊर्जा का इस्तेमाल किया जाता है।

जॉब छोड़ते ही दो दिन में हो जाएगा फुल एंड फाइनल सेटलमेंट

लोहा और निकल धरती पर ज्यादा मात्रा में पाए जाते हैं और इन्ही का इस्तेमाल कर पानी से हाइड्रोजन को अलग किया जाता है। इन धातुओं के प्रयोग से पहले तक इस प्रकिया में जिसे ‘वाटर-स्प्लिटिंग’ प्रक्रिया कहा जाता है में रूथेनियम, प्लैटिनम और इरिडियम जैसी कीमती धातुओं का इस्तेमाल किया जाता था। लेकिन अब इसमें लोहा और निकल जैसी धातुओं का इस्तेमाल किया जाएगा। ( Vehicle will run ) इस प्रक्रिया के बारे में जानकारी देते हुए एक प्रोफ़ेसर चुआन झाओ ने कहा, “पानी के विभाजन में दो इलेक्ट्रोड पानी में एक इलेक्ट्रिक को चार्ज करते हैं, जो हाइड्रोजन को ऑक्सीजन से अलग कर देता है और इस ऊर्जा को ईंधन के रूप में इस्तेमाल किया जाता है।” झाओ ने बताया कि इस विधि में बेहद ही कम मात्रा में ऊर्जा खपत होती है। इस प्रकिया में प्रदूषण नहीं होता बल्कि वातावरण में ऑक्सीजन छोड़ी जाती है।

नागरिकता कानून पर पीएम मोदी की कांग्रेस को चुनौती

Prabhat Jain

Share.