आईपीएस ने फेसबुक पर हजारों लड़कियों के साथ किया ये काम!

0

आजकल सोशल मीडिया (फेसबुक) पर फर्जी अकाउंट बनाने वालों की संख्या बहुत अधिक हो चुकी है। फ़र्ज़ी नाम और फ़र्ज़ी प्रोफाइल पिक्चर की मदद से लोग फेक अकाउंट बना लेते है फिर उस अकाउंट से अपनी मर्जी के अनुसार अनजान व्यक्तियों को मैसज भेजते है। इस प्रकार की एक वारदात को अंजाम दिया दिल्ली के रहने वाले रिक्शाचालक जावेद नाम के शख्स ने जावेद को आईपीएस की फोटो एक ग्रुप से मिल गई थी जिसका इस्तेमाल उसने फेक अकाउंट बनाने के लिए कर लिया।

बरेली के रहने वाले ‘नूरल हसन’ साफ-सुथरी छवि के आईपीएस अफसर हैं. हसन वर्तमान में महाराष्ट्र के एक जिले में एसपी के पद पर तैनात हैं. सामान्य परिवार से संघर्ष कर आईपीएस के पद तक पहुंचने वाले हसन इस उपलब्धि की वजह से सोशल मीडिया पर मशहूर हैं. अपराधी ने इन्ही की प्रोफाइल पिक्चर का इस्तेमाल किया था फेक अकाउंट में, आईपीएस का असली अकाउंट समझकर चारों तरफ से फ्रेंड रिक्वेस्ट आने लगे. इसमें सबसे ज्यादा रिक्वेस्ट लड़कियों की थी. इन्हीं में बरेली की एक लड़की की भी रिक्वेस्ट शामिल थी. इस फर्जी अफसर के चक्कर में कई महिला आईपीएस और पीपीएस अफसर भी इससे बातचीत करने लगीं थीं.


आरोपी जावेद आईपीएस बनकर लड़कियों से चैट करने लगा. धीरे-धीरे उसे फर्जीवाड़े के इस खेल में मजा आने लगा. दूसरी तरफ सुनहरे ख्वाब संजोने वाली कुछ लड़कियों ने उसे आईपीएस समझकर मेलजोल बढ़ानी शुरू कर दी. कुछ युवतियों ने खुली और अंतरंग बातचीत करनी शुरू कर दी और दोनों तरफ से शादी के वादे भी दिए जाने लगे. कई लोग फर्जी अफसर के चक्कर में पहुंच गए असली आईपीएस के पास पहुँच गए।
एक युवती ने शादी न करने पर यौन शोषण के मुकदमे में फंसाने की धमकी देकर ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया. इसके अलावा उन्होंने आईपीएस के पिता को धमकाने और अवैध वसूली की कोशिश भी शुरू कर दी. अब इस मामले में तीनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है. उनके खिलाफ गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज किया गया है.

Share.