Article-370 पर अमेरिका का बयान, नहीं…

0

मोदी सरकार ने जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटा (America On Article 370 Remove) दिया है। सरकार के इस फैसले के बाद देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी हंगामा मचा हुआ है। जहां पाकिस्तान इस मुद्दे पर गर्मजोशी से बयान दे रहा है, युद्ध की चेतावनी दे रहा है वहीं अमेरिका का इस मामले पर कुछ और ही कहना है। अमेरिका ने इसे भारत का आंतरिक मामला बताया।

Article 370 पर राहुल गांधी ने चुप्‍पी तोड़ी, कहा…

पाकिस्तान ने भारत से अपने व्यापारिक और राजनयिक संबंधों को खत्म (Pakistan Ends its Business And Diplomatic Relations With India) करने पर फैसला लिया तो दूसरी ओर अमेरिका ने भी जम्मू कश्मीर से भारत सरकार द्वारा अनुच्छेद-370 (America On Article 370 Remove) हटाए के फैसले पर अपनी बात रखी। वहीं पाकिस्तान ने भारत से जाने वाले विमानों का रास्ता भी रोक दिया है। इस मामले पर अमेरिका कहना है कि भारत ने अनुच्छेद-370 (Article 370) हटाए जाने के फैसले से पहले उन्हें इसकी जानकारी या कोई सलाह नहीं ली थी।

Jammu Kashmir Article 370 के हटते ही आई पाक की गीदड़ भभकी

पहले ऐसा कहा जा रहा था कि भारत ने अमेरिका (America On Article 370 Remove) को सारी जानकारी दी थी, लेकिन अमेरिका ने इस सभी दावों को खारिज किया। एक समाचार वेबसाइट ने भी दावा किया था कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने अपने अमेरिकी समकक्ष जॉन बोल्टन बोल्टन को फरवरी में ही जम्मू-कश्मीर को दिए गए विशेष विशेषाधिकारों को रद्द करने की सरकार की योजनाओं के बारे में जानकारी दी थी। अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता मोर्गन ओर्टागस ने एक बयान में कुछ कश्मीरी नेताओं को हिरासत में लिए जाने की खबरों पर चिंता व्यक्त की और व्यक्तिगत अधिकारों का सम्मान और प्रभावित लोगों से वार्ता करने का आग्रह किया।

पाकिस्तान को चेताया

धोनी की वजह से हटा Article 370…!

अनुच्छेद-370 (America On Article 370 Remove) के हटते ही पाकिस्तान तिलमिला उठा है। उसकी बौखलाहट देखते हुए अमेरिका ने कहा है की भारत के आंतरिक मामलों में दाखल देने के बजाय अपने देश से आतंकवाद खत्म करने पर विचार करें। अमेरिका के विभागीय अधिकारी ने कहा है कि भारत के नए कानून और जम्मू-कश्मीर के शासन पर उसकी लगातार नजर बनी हुई है।

 

Share.