चुनाव से पहले भारत में होंगे दंगे : खुफिया प्रमुख

0

देश भर में आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर पूरे जोर-शोर से तैयारियां चल रही हैं, लेकिन अमरीका के खुफिया प्रमुख ने कुछ ऐसा बताया है जिससे सिलेक्ट कमेटी के माथे पर, चिंता की लकीरें उभर आईं हैं। दरअसल नेशनल इंटेलिजेंस के डायरेक्टर डैन कोट्स ने अमरीका की सेनेट सिलेक्ट कमिटी को एक लिखित बयान दिया है। इस बयान में उन्होंने लिखा है कि, “बीजेपी अगर राष्ट्रवादी विषयों पर जोर देती है, तो भारत में संसदीय चुनावों से पहले सांप्रदायिक हिंसा भड़क सकती है।”

साल 2019 के लिए दुनियाभर में खतरों के आकलन के तौर पर तैयार की गई अमेरिकी खुफिया समुदाय की रिपोर्ट में कोट्स का यह बयान शामिल है। दुनियाभर में खतरे की संभावना पर अपनी रिपोर्ट को लेकर कोट्स सिलेक्ट कमेटी के पास पहुंचे थे। सेनेट की इस बैठक में गीना हैस्पेल भी शामिल थी जो हाल ही मैं भारत की यात्रा से लौटीं थी। गीना हैस्पेल CIA की निदेशक हैं। इस बैठक में कोट्स ने कहा, “मोदी के कार्यकाल के दौरान BJP की नीतियों ने कुछ पार्टी शासित राज्यों में सांप्रदायिक तनाव गहरा कर दिया है। हिंदू राष्ट्रवादी कैंपेन देखने को मिल सकता है। अपने समर्थकों को उत्तेजित करने के लिए निम्न स्तर पर हिंसा भड़काई जा सकती है।”

इसके बाद कोट्स ने कहा कि यदि भारत में हिंसा भड़कती है तो भारतीय मुसलमानों को अलग-थलग होना पड़ सकता है। कोट्स ने कहा कि ऐसा होने पर इस्लामिक आतंकी समूहों को भारत में अपना प्रभाव बढ़ाने का मौका मिल जाएगा। उनका कहना है कि आगमी चुनाव होने तक सीमापार आतंकवाद और संबंधों में तनाव जारी रह सकता है। कोट्स ने समिति के समक्ष कहा, “हमारा अनुमान है कि कम से कम मई 2019 तक सीमापार आतंकवाद, नियंत्रण रेखा के पार से गोलीबारी, विभाजनकारी आम चुनाव और इस्लामाबाद का अमेरिका और भारत को लेकर पर्सेप्शन दोनों पड़ोसी देशों के तनाव को बढ़ाने में योगदान करेगा।”

(प्रभात)

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News
Share.