VIDEO : बन्दूक की नोंक पर पुलिस की अवैध वसूली

0

सड़क पर पुलिस वालों ( POLICE ) को वाहन चेकिंग करते हुए तो हमने कई बार देखा होगा, लेकिन क्या कभी आपने यह देखा है कि पुलिसवाले खुद ही बदमाशों के जैसे बन्दूक ताने लोगों को चेकिंग के नाम (Police Point Gun At People During Regular Vehicle Checking In Wazirganj) पर धमका रहे हो। ऐसा मामला उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh)  से सामने आया है। प्रदेश के बदायूं जिले (Budaun) से सोशल मीडिया (Social Media ) पर एक ऐसा वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें बन्दूक की नोंक पर लोगों को डराते पुलिसवाले नजर आ रहे हैं। इतना ही नहीं,  पुलिसवाले लोगों को उनके वाहन की जांच के दौरान उन्हें ऊपर हाथ करने के लिए भी मजबूर भी कर रहे हैं।

स्पा की आड़ में चल रहा था गंदा खेल

Police Point Gun At People During Regular Vehicle Checking In Wazirganj :

उत्तरप्रदेश के वजीरगंज (Police Point Gun At People During Regular Vehicle Checking In Wazirganj) में बगेन पुलिस चौकी पर शूट किए गए वीडियो में चौकी प्रभारी राहुल कुमार सिसोदिया वहां से गुजरने वाले लोगों को धमकाते हुए दिख रहे हैं। वीडियो में दिख रहा है कि कैसे पुलिस वाले लोगों को धमका रहे हैं। वीडियो में पुलिसवाले यह भी कह रहे हैं कि अपने हाथों को ऊपर उठाएं। अपने पैरों को खोलें, यदि आप अपने हाथों को नीचे करते हैं, तो आपको गोली मार दी जाएगी। फिर यह मत कहना कि आपको गोली मार दी गई।

बन्दूक की नोंक पर चेकिंग (Police Point Gun At People During Regular Vehicle Checking In Wazirganj)

Video : 4 शराबियों ने सरेआम पुलिसकर्मी को पीटा

वीडियो वायरल होने के बाद स्थानीय लोगों ने पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाए। कुछ लोगों का कहना है कि यहां पुलिस अक्सर ऐसे ही चेकिंग करती है। वे महिलाओं को भी नहीं छोड़ते। इस बारे में राज कुमार अग्रवाल का कहना है,” अगर आप गाड़ी चला रहे हैं और पुलिस वाले आपको रोकना चाहते हैं, तो वे हाथ में बंदूक लेकर ऐसा करेंगे। यह तरीका आम आदमी के लिए बहुत ही डराने वाला और अपमानजनक है। वाहन अगर महिला चला रही है, तब भी पुलिस उसे नहीं बख्शती। ”

बदमाशों के डर से ऐसा कर रही पुलिस

इस मामले पर एक पुलिस अधिकारी का कहना है कि क्षेत्र में अपराध पर नजर रखने के लिए बंदूक तानी जाती है। बदायूं में अपराध काफी है और हम अपनी बंदूकें बाहर रखते हैं क्योंकि आप नहीं जानते कि कब कौनसे वाहन में अपराधी आ जाएं। हमें तैयार रहना होता है। कई बार जब हम लोगों को चेकिंग के लिए रोकते हैं तो वे हम पर ही गोलियां बरसाने लगते हैं।

Video : मानवता को शर्मसार करने वाला वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

इसीलिए मज़बूरी में हमें ऐसा करना पड़ता है। बदायूं एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी ( ssp ashok kumar tripathi ) ने बताया कि यह एक रणनीति है। पहले भी ऐसी घटनाएं हुई हैं, जहां आपराधिक मानसिकता के लोगों ने वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस पर गोलीबारी की। हमें इस तरह की घटनाओं के कारण हताहतों का सामना करना पड़ा है। यही कारण है कि इस तकनीक का उपयोग किया जा रहा है।

Share.