Unnao Rape Case : लखनऊ से दिल्ली एम्स लाई गई दुष्कर्म पीड़िता

0

उन्नाव दुष्कर्म (Unnao Rape Case) पीड़िता को शीर्ष न्यायालय के आदेश के बाद दिल्ली शिफ्ट करवा दिया गया है। पीड़िता को दिल्ली एम्स ट्रॉमा सेंटर (Delhi AIIMS Trauma Center) की आइसीयू में भर्ती कराया गया है, जहां सबसे पहले डॉक्टरों ने उसकी स्थिति जाँची और फिर उसका इलाज शुरू कर दिया। पीड़िता को लखनऊ के किग जॉर्ज हास्पिटल से एयर एंबुलेंस के माध्यम से आईजीआई एयरपोर्ट लाया गया, जिसके लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया। ग्रीन कॉरिडोर बनाने से केवल 18 मिनट में पीड़िता को एम्स ट्रॉमा सेंटर पहुंचा दिया गया (Unnao Rape Survivor Brought To Delhi)।

तीन तलाक, आर्टिकल 370 के बाद आरक्षण ख़त्म!

ग्रीन कॉरिडोर के तहत एयरपोर्ट के टर्मिनल एक से ट्रॉमा सेंटर तक पहुंचने के लिए दिल्ली कैंट के रास्ते का इस्तेमाल किया गया। पुलिस ने बताया कि पिछले सप्ताह सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हुई पीड़िता को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद लखनऊ से हवाई मार्ग के जरिए सोमवार शाम दिल्ली लाया गया (Unnao Rape Survivor Brought To Delhi)। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि एम्स के डॉक्टरों की सलाह पर पीड़िता को निर्बाध रास्ता मुहैया कराया गया। एंबुलेंस हवाईअड्डे के टर्मिनल-1 से रात 9 बजे चली और एम्स ट्रॉमा सेंटर में रात 9 बजकर 18 मिनट पर पहुंच गई, जिसके बाद मंगलवार सुबह पीड़िता की हालत  के बारे में बताया गया। पीड़िता और उसका वकील 28 जुलाई को रायबरेली में एक सड़क दुर्घटना में गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इस घटना में पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी।

Unnao Rape Case : SC का आदेश, पीड़िता को ले जाया जाए एम्स

दो साल से चले आ रहे इस मामले में अब सुप्रीम कोर्ट ने सख्ती से जांच के आदेश दिये हैं। इतने समय में पीड़िता अपने कई रिशतेदारों को खो चुकी है और खुद वेंडटिलेटर पर है। अब जब पीड़िता को दिल्ली भेजा गया है तो सभी एक ही सवाल उठा रहे हैं कि क्या अब उसे न्याय मिल जाएगा या अभी भी मामला बस चलता रहेगा। जब से यह मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंचा है तब से पुलिसिया कार्रवाई भी बढ़ गई है। जिससे जल्द ही न्याय मिलने की संभावना जताई जा रही है।

Unnao Rape Case : छात्रा के सवाल ने की पुलिस अधिकारी की बोलती बंद

Share.