Unnao Rape Case : धरने पर बैठे अखिलेश यादव, मायावती ने दी नसीहत

0

उनन्व गैंग रेप (Unnao rape case ) की पीड़िता आखिरी सांस तक जिंदा रहने की आस लगाए थी, लेकिन उसे मौत (Unnao rape victim death ) के आगे हार माननी पड़ी। दरिंदों के कारण एक और बेटी के संसार को अलविदा कहने की घटना से पूरा देश शोक मे है। देश अभी भी न्याय की आस में है, सरकार की ओर न जाने कितनी ही निगाहें इस उम्मीद से देख रही है कि इतने सारे बिल और कानून के बीच महिलाओं की सुरक्षा को लेकर भी जल्द से एक नया बिल, एक कानून लाया जाए। इस मामले में आखिर इतनी देरी क्यों ? इस मामले पर सरकार के खफा सपा प्रमुख अखिलेश यादव (SP chief Akhilesh Yadav ) धरने पर बैठ गए हैं । वहीं बसपा सुप्रीमो मायावती (BSP supremo Mayawati) ने भी सरकार को नसीहत दी है।

फडणवीस के सामने PM मोदी से खास अंदाज में मिले CM ठाकरे  

अखिलेश यादव ने कहा कि हैदराबाद की घटना के बाद से गुस्से में था। इसके बाद उन्नाव की घटना। उन्नाव में जो हुआ वो बीजेपी के शासन में यह पहली घटना नहीं है। वो बेटी बहुत बहादुर थी और उसकी आखिरी शब्द थे कि वो जिंदा रहना चाहती है। आज ये हमारे लिए काला दिवस है। एक बेटी को यूपी में न्याय पाने के लिए आत्मदाह करना पड़ा। उन्नाव की पीड़िता को इसलिए इंसाफ नहीं मिला क्योंकि आरोपी बीजेपी से हैं।

बिहार सीएम नीतीश कुमार ने दुष्कर्म के लिए इसे ठहराया जिम्मेदार

मायावती ने  ट्वीट कर जताया गुस्सा

मायावती ने ट्वीट किया कि जिस उन्नाव रेप पीड़िता को जलाकर मारने की कोशिश की गई, उसकी कल रात दिल्ली में हुई दर्दनाक मौत अति कष्टदायक है।  इस दुख की घड़ी में बीएसपी पीड़ित परिवार के साथ है। यूपी सरकार पीड़ित परिवार को समुचित न्याय दिलाने जल्द ही विशेष पहल करे। यही इंसाफ का तकाजा और जनता की मांग है। इसके बाद एक और ट्वीट में उन्होने लिखा कि इस किस्म की दर्दनाक घटनाओं को यूपी सहित पूरे देशभर में रोकने के लिए राज्य सरकारों को चाहिए कि वे लोगों में कानून का खौफ पैदा करें। केंद्र भी ऐसी घटनाओं  के मद्देनजर दोषियों को निर्धारित समय के भीतर ही फांसी की सख्त सजा दिलाने का कानून जरूर बनाए।

ऑटो चालक ने 5 साल की बच्ची से किया बलात्कार, हालत गंभीर

       – Ranjita Pathare

Share.