website counter widget

फडणवीस ने बताया ठाकरे परिवार को झूठा

0

महाराष्ट्र की राजनीति में घमासान जारी है। जहां एक तरफ शिवसेना (Shiv Sena) मुख्यमंत्री पद को लेकर अड़ी हुई है, वहीं भाजपा (BJP) इससे साफ़ इंकार कर रही है। ऐसे में दोनों ही पार्टियों के बीच अभी तक कोई भी सहमति नहीं बन पाई है। हालांकि आज देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद से अपना इस्तीफ़ा दे दिया है। आज फडणवीस ने राजभवन जाकर राज्‍यपाल को अपना इस्तीफ़ा सौंप दिया। वहीं अब नई सरकार के गठन का फैसला नहीं होने पर राज्यपाल द्वारा महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लग सकता है। इसी बीच भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर कांग्रेस (Congress) ने उसके विधायकों को तोड़ने की कोशिश करने का आरोप लगाया है।

कांग्रेस (Congress) का कहना है कि भाजपा (BJP) उसके विधायकों को 25 करोड़ का ऑफर कर रही है। इससे बचने और विधायकों की खरीद-फरोख्त के डर से कांग्रेस ने अपने विधायकों को जयपुर रवाना कर दिया है। जयपुर के एक रिजॉर्ट में कांग्रेस ने अपने विधायकों को रुकवाया है। वहीं महाराष्ट्र की राजनीति अब भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) की एंट्री भी हो चुकी हैं। वहीं ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि गडकरी को ही अगला मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है। हालांकि गडकरी ने खुद इस बात का इंकार करते हुए कहा था कि वे दिल्ली नहीं छोड़ेगे और देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री होंगे। वहीं मीडिया जगत में चल रही ख़बरों की माने तो आज नितिन गडकरी शिवसेना (Shiv Sena) प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) से मुलाकात कर सकते हैं।

हालांकि शिवसेना (Shiv Sena) के नेता यह बात पहले ही स्पष्ट कर चुके हैं कि यदि भाजपा उनकी पार्टी को मुख्यमंत्री पद देने के लिए तैयार होती है तभी मुलाक़ात करने आए। हालांकि अभी तक भाजपा (BJP) और शिवसेना (Shiv Sena) के बीच कोई भी बातचीत नहीं हुई है। वहीं आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने कहा कि, “RSS के प्रति हमारे मन में बहुत सम्‍मान है। RSS को यह सोचना चाहिए कि झूठ बोलना किसकी संस्कृति है।” उन्होंने यह भी कहा कि अब राम मंदिर का फैसला कोर्ट सुनाएगी इसका श्रेय भाजपा को नहीं लेना चाहिए। इसके बाद उद्धव ने कहा, “फडणवीस ने मुझे झूठा बताया था। हम बीजेपी को अपना दुश्‍मन नहीं मानते। लेकिन, उन्‍हें झूठ नहीं बोलना चाहिए।” इसके आगे उद्धव (Uddhav Thackeray) ने कहा कि, “मैंने बाला साहब ठाकरे को वचन दिया था कि शिवसेना का मुख्यमंत्री बनेगा और इसके लिए मुझे किसी की जरूरत नहीं है। मुख्यमंत्री पद के ढाई-ढाई साल की बात हुई थी। भाजपा मीठा बोलकर हमें खत्म करने का प्रयास कर रही है।”

Prabhat Jain

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.