website counter widget

कमीशन पर बदले थे हजारों करोड़ रुपए, कांग्रेस ने दिखाया वीडियो

0

8 नवम्बर 2016 को रात 8:15 बजे का समय| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब नोटबंदी की घोषणा की तो सारे भारत में कालाधन रखने वालों के होश उड़ गए|  इससे पूरे देश में हड़कंप मच गया था। अब इस नोटबंदी को लेकर कांग्रेस ने एक बड़ा खुलासा किया है और वीडियो के रूप में सबूत पेश किया है |

कौन हैं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर जो भोपाल से लड़ सकती है चुनाव ?

दरअसल, कांग्रेस (Congress) पार्टी ने वीडियो जारी कर एक बार फिर दावा किया है कि नोटबंदी (Note Ban) एक बड़ा घोटाला था। दिल्ली के कांग्रेस मुख्यालय में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल (Kapil Sibal Press Conference) ने प्रेस से बात की। इस दौरान उन्होंने मीडिया को दो वीडियो दिखाए। यह वीडियो नोटबंदी लागू होने के बाद यानी 4, 5, 6 और 9 मार्च, 2017 के बीच के हैं। वीडियो में दिखाया गया है कि किस तरह से सैकड़ों करोड़ रुपए नोटबंदी के दौरान बदले गए। वीडियो में बाक़ायदा पुराने नोटों को बदलते हुए दिखाया गया है। सिब्बल ने कहा कि इस घोटाले में बीजेपी के नेता और कई बड़े अधिकारी और पूर्व बैंकर शामिल थे।

चुनाव में यह पार्टी बांट रही बकरा, शराब, सोना  और..

वीडियो में दिखाया गया है कि गुजरात (Gujarat BJP Office) के बीजेपी मुख्यालय में बीजेपी नेता लोगों से पुराने नोट बदलने के लिए अमित शाह (Amit Shah) के नाम पर डील कर रहा है। उस बीजेपी नेता के कार्यालय को भी दिखाया गया है, जहां पर पुराने और नए नोट ब्रीफकेस में रखे हुए थे। कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने दावा किया कि वह बीजेपी नेता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह का नाम लेकर सबकुछ कर रहा था। कई होटलों में सैकड़ों करोड़ रुपए बदले गए, इस वीडियो में होटल में पुराने नोटों को बदलते हुए दिखाया गया है।कपिल सिब्बल ने दूसरे वीडियो में दिखाया कि नोटबंदी के दौरान मुंबई में कृषि मंत्री के दफ्तर में उस वक्त के डीसीपी वाडेकर कुछ लोगों को लेकर पहुंचे थे, जहां पर पुराने नोटों को बदलने की डील हुई थी।

इस मौके पर प्रेस से चर्चा करते हुए कपिल सिब्बल ने कहा, “नोटबंदी के दौरान बीजेपी ने बड़े पैमाने पर पुराने नोट 15 से 40 प्रतिशत कमीशन लेकर नोट बदलवाए थे। इस वीडियो से सारी सच्चाई सामने आ गई है। बावजूद इसके मोदी सरकार किसी के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है।“ उन्होंने कहा, “यह दर्शाता है कि बीजेपी और सरकार के लोग और अधिकारी इस घोटाले में शामिल थे, यही वजह है कि मोदी सरकार ने इन मामलों में जांच तक के आदेश नहीं दिए।“गौरतलब है कि जब नोटबंदी हुई थी, तब कुछ लोगों को लगा कि प्रधानमंत्री भारत व पाकिस्तान के कड़वे होते रिश्ते के बारे में बोलेंगे या शायद दोनों देशों के बीच में युद्ध का ऐलान ही न कर दें, लेकिन जब यह घोषणा की गई तो कुछ लोगों के लिए यह युद्ध के ऐलान से भी घातक सिद्ध हुई। लोग औने-पौने दामों में सोना खरीदने लगे | एटीएम में कतार लगने लगी थी|

भोपाल से दिग्विजयसिंह को टक्कर देगी साध्वी प्रज्ञा!

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
Loading...
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.