दिल दहला देने वाली है यह दरिंदगी

1

देश में बेटियों को बचाने की जरूरत है| जम्मू से एक 8 साल की मासूम के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है, जो एक बार फिर देश में बेटियों की सुरक्षा को लेकर बड़ा सवाल खड़ा करता है | जम्मू-कश्मीर के कठुआ जिले में इसी साल जनवरी में आठ साल की बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म और हत्या के मामले में चार महीने बाद अब पुलिस ने आठ आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की है| आरोपियों के खिलाफ पुलिस की यह चार्जशीट बताती है कि मासूम बच्ची के साथ किस हद तक दरिंदगी की गई|

इस चार्जशीट के मुताबिक, इस पूरे घटनाक्रम का मास्टरमाइंड संजीराम को बताया गया है। बकरवाल समुदाय की इस मासूम बच्ची का अपहरण, दुष्कर्म और मर्डर इलाके से इस अल्पसंख्यक समुदाय को हटाने की एक सोची-समझी साजिश का हिस्सा थी। समुदायों के इस विवाद ने मासूम की ज़िन्दगी और इंसानियत दोनों पर पानी फेर दिया|

दरिंदगी की हद का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि आठ साल की मासूम बच्ची के साथ आठ दिन तक दुष्कर्म किया जाता रहा| क्राइम ब्रांच की जांच के मुताबिक, बच्ची को कठुआ जिले के एक मंदिर में ले जाया गया और वहां उसे नशा देकर उसके साथ एक सप्ताह तक कई बार दुष्कर्म किया गया। यही नहीं बच्ची को मारने से पहले भी उसके साथ दुष्कर्म हुआ|

बच्ची का नाम आशिफा बताया जा रहा है| इस खबर से बॉलीवुड से लेकर आम आदमी तक सदमे में है|  देश की कई बड़ी हस्तियां ट्वीट के जरिये ‘जस्टिस फॉर आशिफा’ की गुहार लगा रही है|

Share.