Terror Training Camps : आतंकवादियों के साये में करतारपुर गुरुद्वारा, बड़ी वारदात की आशंका

0

नई दिल्ली: सिखों के पवित्र धार्मिक स्थल डेरा बाबा नानक साहिब के लिए करतारपुर कॉरिडोर (Kartarpur Corridor) अब भारतीय श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया है जिसका शुभारंभ इसी हफ्ते किया जाएगा (Terror Training Camps)। भारतीय सिख समुदाय के लोगों में इसको लेकर ख़ासा उत्साह है लेकिन ये खुशी थोड़ी फीकी हो सकती क्योंकि एक ख़ुफ़िया जानकारी के अनुसार करतारपुर कॉरिडोर पर आतंक का साया है। जिस जेले में ये गुरुद्वारा है वहीं पर कई आतंकी कैंप (Terror Camp) चल रहे हैं.

ऑड ईवन दिलाएगा दिल्ली को जहरीली हवा से मुक्ति ?

जानकारी के अनुसार करतारपुर कॉरिडोर पाकिस्तान (Pakistan) के पंजाब प्रांत के नारोवाल जिले में है. इस जिले में कई आंतकी कैंप चल रहे हैं. खुफिया एजेंसियों से जुड़े सूत्रों का कहना है कि ये आतंकी कैंप पाकिस्तानी पंजाब के मुरीदके, शाकरगढ़ और नारोवाल में है. कहा जा रहा है कि यहां बड़ी संख्या में महिलाएं और पुरुष कैंप में मौजूद हैं और ट्रेनिंग ले रहे हैं.

शिवसेना की शर्तों पर बीजेपी ने भरी हामी!

पाकिस्तान ने गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर की यात्रा करने के लिए हर दिन पांच हजार तीर्थयात्रियों को अनुमति दी है. पाकिस्तान प्रति तीर्थयात्री 20 डॉलर सेवा शुल्क भी वसूलेगा जिससे उसे हर रोज एक लाख डॉलर की कमाई होगी. लेकिन गुरुपर्व के दिन पाकिस्तान तीर्थयात्रियों से सेवा शुल्क नहीं लेगा. पाकिस्तान प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को करतारपुर परिसर और गुरुद्वारा दरबार साहिब की कुछ तस्वीरें साझा की हैं (Terror Training Camps). इमरान ने कहा कि आस्था का ये केन्द्र गुरु नानक देव की 550वीं जयंती पर सिख श्रद्धालुओं का स्वागत करने के लिए तैयार है. इसी महीने गुरुनानक देव की 550वीं जयंती मनाई जानी है. जिससे सिख श्रद्धालुओं में और भी उत्साह है।

 

ये कंपनी दे रही है हफ्ते में 3 दिन का अवकाश, 40 फीसदी बढ़ी उत्पादकता

-Mradul tripathi

Share.