Jharkhand Mob Lynching : ओवैसी जिंदाबाद के नारे लगाकर रेप की धमकी

0

झारखंड (Jharkhand Mob Lynching) में सरायकेला-खरसावां जिले के धातकीडीह गांव में भीड़ ने एक मुस्लिम युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। अब यह मामला तूल पकड़ते जा रहा है। मुस्लिम युवक की ह्त्या के बाद गाँव का माहौल डरा हुआ है। डर के मारे जहां पुरुष गांव-घर छोड़कर भागे हुए हैं वहीं अब महिलाओं को अपनी अस्मत लुटने का भय सता रहा है। गांव में कई लोग प्रवेश कर रहे हैं और महिलाओं को धमकी दे रहे हैं कि उनके साथ रेप किया जाएगा।

रेलवे में 50% पदों पर महिलाओं की होगी भर्ती

इस बारे में पुलिस अधीक्षक (एसपी) कार्तिक एस. ने कहा, “सरायकेला पुलिस स्टेशन में कुछ महिलाओं ने एक मामला दर्ज कराया है। उन्हें रेप और अन्य परिणाम भुगतने की धमकी दी गई है, हम मामले की जांच कर रहे हैं। ” इस बारे में महिलाओं का कहना है कि 24 जून को कुछ लोगों ने गांव में ओवैसी जिंदाबाद के नारे लगाए। ये लोग गांव में झंडे लेकर घुसे और महिलाओं के साथ दुष्कर्म कर घटना का बदला लेने की धमकी दी। साथ ही गांव को बम से उड़ाने की भी धमकी दी।”

धातकीडीह की ममता देवी ने एफआईआर के लिए थाने में 47 महिलाओं के हस्ताक्षर के साथ शिकायती आवेदन दिया है। महिलाओं ने आगे कहा कि ये सभी लोग आफताब सिद्दीकी और असद्दुदीन ओवैसी जिंदाबाद… और अल्लाह हू  अकबर… के नारे लगा रहे थे। आरोप है कि अराजक तत्वों ने जाते समय एक धार्मिक स्थल का झंडा भी तोड़ दिया।

6 साल बाद पकड़ाया घुसपैठिया

क्या था मामला

17 जून की रात चोरी के आरोप में गांव कदमडीहा के तबरेज अंसारी की भीड़ ने पिटाई की थी। इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। पिटाई की वजह से बाद में सरायकेला जेल में 22 जून को तबरेज की मौत हो गई थी। इस मामले में कई लोगों को गिफ्तार किया गया था। तबरेज अंसारी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट पुलिस को मिल गई, लेकिन चिकित्सकों ने मौत का वास्तविक कारण स्पष्ट नहीं किया है। अंदरूनी जख्म भी ऐसा नहीं मिला, जो उसकी मौत का कारण बने। अब मौत का वास्तविक कारण जानने के लिए सरायकेला-खरसावां जिले के न्यायालय में पुलिस बिसरा जांच को अर्जी दाखिल करेंगी।

निर्भया के बाद अब नेता भी राजधानी में नहीं सुरक्षित

Share.