अब कार्ड स्वाइप कर दीजिये चढ़ावा, पेटीएम भी उपलब्ध

0

देशभर के एटीएम में नकदी के संकट के बीच श्रद्धालुओं के लिए राहतभरी खबर आई है| समस्या को देखते हुए  बद्रीनाथ और केदारनाथ मंदिर में चढ़ावे की व्यवस्था डिजिटल होने जा रही है| यहां भगवान को चढ़ावे या दान के लिए कैश लाने की जरूरत नहीं है| श्रद्धालु एटीएम या क्रेडिट कार्ड स्वैप कर चढ़ावे का भुगतान कर सकते हैं| इतना ही नहीं पेटीएम से भुगतान की सुविधा भी शुरू की गई है|

बता दें कि बद्री-केदार मंदिर समिति ने श्रद्धालुओं के लिए इस साल से ऑनलाइन पूजा का विकल्प खोल दिया है| बदरी-केदार में हर वर्ष लाखों की संख्या में दूर-दूर से श्रद्धालु दर्शन करने पहुंचते हैं|  श्री बद्रीनाथ और केदारनाथ धाम में अभिषेक और महाभिषेक पूजाओं का अपना महत्व है| अब इन्हें घर बैठे ऑनलाइन भी संपन्न करवाया जा सकेगा| साथ ही मंदिर में दान या चढ़ावा देने वालों को डिजिटल पेमेंट की सुविधा मिल सकेगी|

बता दें कि केदारनाथ मंदिर के पट 29 अप्रैल को खुल रहे हैं, जबकि बद्रीनाथ मंदिर के कपाट 30 अप्रैल को श्रद्धालुओं के लिए खोले जाएंगे| उत्तराखंड में चारधाम यात्रा 18 अप्रैल को गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ शुरू हो जाएगी|

श्री बद्रीनाथ -केदारनाथ मंदिर समिति के सीईओ बीडी सिंह ने बताया कि अब तक यात्री पूजा, दान और चढ़ावे का भुगतान पर्ची कटाकर मंदिर समिति को करते थे| यात्रियों की संख्या हजारों में होने के कारण भुगतान के लिए उन्हें लंबी लाइन लगानी पड़ती थी| यात्रा के चरम काल में तो कई यात्री बिना दान किए ही भगवान के दर्शन कर लौट जाते थे| इसके मद्देनजर मंदिर समिति ने इस साल से पेटीएम से दान देने की सुविधा भी दे दी है| साथ ही पीएनबी और एसबीआई से तय करके एटीएम स्वैप मशीनें भी बदरीनाथ और केदारनाथ में लगवाई जा रही हैं| श्रद्धालु अब दान या चढ़ावे का भुगतान डिजिटल पेमेंट के जरिये कर सकेंगे| कहा कि इससे समिति को कैश कलेक्शन में भी राहत मिलेगी|

Share.