Sushma Swaraj Birthday 2019 : पाकिस्तानी भी जिन्हें करते हैं प्यार

0

भारत की विदेशमंत्री सुषमा स्वराज का आज जन्मदिवस (Sushma Swaraj Birthday 2019) है| प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi), गृहमंत्री राजनाथसिंह (Rajnath Singh), ममता बनर्जी (Mamata Banerjee), स्मृति ईरानी (Smriti Irani), अरुण जेटली (Arun Jaitley) सहित कई नेताओं ने सुषमा स्वराज को जन्मदिन की बधाई दी है।

सुषमा स्वराज ने विदेश मंत्री के तौर पर उन्होंने कई ऐसे काम किए हैं, जिनके बाद हिंदुस्तान ही नहीं बल्कि दुनिया के कई देशों के लोग उन्हें सबसे बेहतर मानते हैं यहां तक कि पाकिस्तान के नागरिक भी सुषमा स्वराज से बेहद प्यार करते हैं|

इनके राजनीतिक करियर का ग्राफ (आलेख) भारतीय राजनीति में इनकी भूमिका की एक अभिव्यक्ति है। इन्होंने सत्ताधारी पार्टी की सदस्या और विपक्ष की सदस्या दोनों ही प्रमुख पदों पर कार्य किया। वह ऐसी कई युवा महिलाओं के लिए एक आदर्श प्रतिमान हैं जो भारतीय राजनीति के मार्ग पर चलने की इच्छा रखती हैं।

वे 1977-1982 और 1987-1909 के दौरान दो बार हरियाणा से और 1998 में एक बार दिल्ली से विधायक बनीं। अक्टूबर 1998 में इन्होंने दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री का पद संभाला।

14 फरवरी 1952 को हरियाणा के अम्बाला में जन्मी सुषमा स्वराज ने  एसडी कॉलेज अम्बाला छावनी से बीए और पंजाब विश्वविद्यालय चंडीगढ़ से कानून की डिग्री हासिल की है । 70 के दशक में वे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़ गई थी।

सुषमा स्वराज और स्वराज कौशल का प्रेम विवाह हुआ था। दोनों की प्रेम कहानी कॉलेज के दिनों में शुरू हुई थी। सुषमा स्वराज और स्वराज कौशल की मुलाकात पंजाब यूनिवर्सिटी के चंडीगढ़ के लॉ डिपार्टमेंट में हुई थी। दोनों ने 13 जुलाई, 1975 को शादी कर ली।

हालांकि प्रेम विवाह करने की उनकी राह आसान नहीं थी। अपने परिवार वालों को मनाने के लिए दोनों को काफी मेहनत करनी पड़ी थी। हालांकि सुषमा अपने परिवार को मनाने में कामयाब हुईं। उनके पति, स्वराज कौशल, सोशलिस्ट नेता जॉर्ज फर्नांडीज़ के करीबी थे, और इस कारण ही वे भी 1975 में फर्नांडीज़ की विधिक टीम का हिस्सा बन गईं।

आपातकाल के समय उन्होंने जयप्रकाश नारायण के सम्पूर्ण क्रांति आंदोलन में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। आपातकाल की समाप्ति के बाद वह जनता पार्टी की सदस्य बन गई। राजनीति में आने से पहले सुषमा ने सुप्रीम कोर्ट में अधिवक्ता के पद पर भी काम किया है। 2009 में भारत की भाजपा द्वारा संसद में विपक्ष की नेता चुनी गईं थीं, इस नाते वे भारत की 15वीं लोकसभा में प्रतिपक्ष की नेता रही हैं। इसके पहले भी वे केन्द्रीय मंत्रीमण्डल में रह चुकी हैं तथा दिल्ली की मुख्यमंत्री भी रही हैं।

वे सन् 2009 के लोकसभा चुनावों के लिए भाजपा के 19 सदस्यीय चुनाव-प्रचार-समिति की अध्यक्ष भी रहीं थीं। साल 2014 में वे भारत की पहली महिला विदेश मंत्री बनीं|

-अंकुर उपाध्याय

फ्लाइट में आया टॉइलट का पानी….

गोरखपुर जाने वाली ट्रेन पर यह लिखा मिला

राहुल के गढ़ में मोदी लगाएंगे AK-47 की फैक्ट्री

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.