1984 Anti-Sikh Riots : सुप्रीम कोर्ट ने पलटा हाईकोर्ट का फैसला

0

1984 सिख विरोधी हिंसा (1984 Anti-Sikh Riots) के मामले में सुप्रीम कोर्ट ने आज हाईकोर्ट के फैसले को पलटते  हुए 15 आरोपियों को बड़ी राहत दी है। कोर्ट ने आरोपियों  को बरी कर दिया। कोर्ट ने अपना फैसला सुनाते हुए कहा, “पुलिस खुद मानती है कि दंगों में इन लोगो को किसी ने नहीं देखा है और ना ही किसी ने इनकी पहचान की है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर बिना किसी सबूत के हाईकोर्ट ने इनको सजा कैसे दी।” दरअसल कोर्ट ने आरोपियों  के खिलाफ सबूत नहीं होने के कारण उन्हें बरी किया है।”

1984 Anti-Sikh Riots : सज्जन को राहत नहीं, रिहाई लगे अति दूर

1984 त्रिलोकपुरी सिख दंगा मामला: सुप्रीम कोर्ट ने 15 दोषियों को बरी किया, हाईकोर्ट के फैसले को पलटा

निचली अदालत का फैसला था बरक़रार

Image result for 1984 sikh riots

हाईकोर्ट ने निचली अदालत के फैसले को बरक़रार रखते हुए फैसला सुनाया था। इस मामले पर 22 साल बाद दिल्ली हाईकोर्ट का बड़ा फैसला आया था। वहीँ निचली अदालत ने 1996 में पांच-पांच साल कैद की सजा सुनाई थी। हिंसा के बाद 95 शव बरामद हुये थे लेकिन किसी भी दोषी पर हत्या की धाराओं में आरोप तय नहीं हुये थे। इनके खिलाफ 2 नवंबर 1984 को कर्फ्यू का उल्लंघन कर हिंसा करने का आरोप था, लेकिन तब भी किसी के खिलाफ सबूत नहीं मिले थे। निचली अदातल के फैसले के बाद आरोपियों ने हाइकोर्ट में अपील की थी, लेकिन हाईकोर्ट ने अपील को खारिज कर समा को बरक़रार रखा था। इसके बाद आरोपियों को चार हप्ते के भीत्तर आत्मसमर्पण करने का निर्देश दिया था।

बदले की आग में क्यों जला हिन्दुस्तान ?

Image result for 1984 sikh riots

95 लोगों की मौत की कहानी

Image result for 1984 sikh riots

सिख दंगों के दौरान हुई हिंसा में त्रिलोकपुरी में करीब 95 लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया था। दंगों के दौरान सैकड़ों घरों को आग के हवाले कर दिया गया था। इस मामले पर सबसे पहले दिल्ली की कड़कड़डूमा कोर्ट ने दंगा भड़काने, घरों को जलाने और धारा 144 का उल्लंघन करने के आरोप में साल 1996 में सैकड़ों लोगों को पांच साल की सजा सुनाई थी, जिसके बाद 88 ने दिल्ली हाईकोर्ट में अपील की थी। इस मामले में कांग्रेस नेता सज्जन कुमार को दोषी ठहराते हुए उम्र कैद की सजा सुनाई थी।

अपने पेटीकोट में नोट छिपाकर प्रेमी को देती थी व्यापारी की बहू

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News

Share.