website counter widget

Ayodhya Land Dispute Case : अयोध्या में बवाल, धारा 144 लागू

0

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद (Ram Janmabhoomi-Babri Masjid) मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई का आखिरी फेज़ शुरू होने के साथ ही हंगामा शुरू हो गया है। राम भगवान की पावन जन्मस्थली अयोध्या (Ayodhya) को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात हैं। अदालत में इस मामले पर बहस तेज हो गई है। ऐसा कहा जा रहा है कि 17 अक्टूबर को  इस मामले में सुनवाई खत्म हो जाएगी।

वित्तमंत्री के पति ने खोली सरकार की पोल

 स्कन्द पुराण और श्रद्धा के तर्कों पर सवाल

अदालत में मुस्लिम पक्ष की ओर से राजीव धवन ने कहा कि श्रद्धा से जमीन नहीं मिलती है, स्कन्द पुराण से अयोध्या की जमीन का हक नहीं मिलता है। अगर बेंच मोल्डिंग ऑफ रिलीफ के तहत किसी एक पक्ष को मालिकाना हक देकर दूसरे को विकल्प देती है तो मुस्लिम पक्षकारों का ही दावा बनता है। उन्होने आगे कहा कि मैं किसी डायरी, श्रद्धा या विश्वास की बात नहीं करूंगा। हिंदू पक्ष का विवादित स्थल पर कभी कब्जा नहीं रहा था, उन्हें सिर्फ पूजा का अधिकार मिला था। किसी ने आजतक नहीं माना है कि हिंदू पक्ष का आंतरिक अहाते पर कब्जा था। गुम्बद के नीचे रामजन्म होने के श्रद्धालुओं के फूल चढ़ाने का दावा सिद्ध नहीं हुआ है, वहां तो ट्रेसपासिंग कर लोग घुस आए थे। राजीव धवन ने कहा कि जब शुक्रवार को चार दिन की बात तय हुई तो मैं हिंदू पक्ष की दलील का जवाब नहीं दे सका था। अब मैं पूरी रफ्तार से अपनी दलीलें रखूंगा, फैक्ट्स बता दिए गए हैं और अब सिर्फ कानून की बात रखूंगा।

Nobel in Economics : भारत के अभिजीत बनर्जी को अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार

अयोध्या में  धारा-144 लागू करने के बारे में जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने कहा कि अयोध्या भूमि विवाद मामले में फैसले की संभावना और आने वाले त्‍यौहारों को देखते हुए 10 दिसंबर तक जिले में धारा-144 लागू रहेगी। इस केस में 17 नवंबर तक फैसला आने की उम्मीद है। इसी दिन सुप्रीम कोर्ट के मुख्‍य न्‍यायाधीश रंजन गोगोई भी सेवानिवृत्त हो रहे हैं।

कमलनाथ सरकार से ख़फ़ा भारतीय किसान संघ करेगा प्रदर्शन

         – Ranjita Pathare 

 

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.