जुर्माना भरो, घर खाली करो – सुप्रीम कोर्ट

0

राष्ट्रीय जनता दल (RJD) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के सुपुत्र और और बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को सुप्रीम कोर्ट ने झटका दिया है। तेजस्वी यादव की याचिका को खारिज करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने, उन्हें बंगला खाली करने के आदेश के साथ ही, सरकार के फैसले को चुनौती देने के लिए 50 हजार का जुर्माना भी ठोका है। दरअसल तेजस्वी यादव पटना हाई कोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी।

पटना हाई कोर्ट ने तेजस्वी यादव को उप-मुख्यमंत्री के पद से हटने के बाद, बंगला खाली करने का आदेश दिया था। तेजस्वी पद से हटने के बाद भी बंगले में रह रहे थे। पटना हाई कोर्ट के आदेश के बाद तेजस्वी ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। सुप्रीम कोर्ट के प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता एवं न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की पीठ ने, तेजस्वी यादव को सरकार के फैसले को चुनौती देने के लिए 50 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है।

फ़िलहाल यह बंगला वर्तमान उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी को आवंटित किया गया है। तेजस्वी यादव से यह बंगला खाली कराने के लिए बीते 5 दिसंबर को कई सरकारी अधिकारी उनके निवास पहुंचे थे, लेकिन तेजस्वी यादव उस समय नई दिल्ली में थे। तेजस्वी यादव का यह मामला बिहार विधानसभा में बहस का मुद्दा भी बन चुका है। यह बंगला बिहार की राजधानी पटना के देशरत्न मार्ग पर स्थित है।

गौरतलब है कि, जिला प्रशासन को इस मामले में बिहार सरकार के आवास विभाग ने नोटिस जारी किया था। नोटिस जारी किए जाने के बाद जिला प्रशासन के अधिकारी, भारी संख्या में पुलिस बल लेकर बंगले को खाली कराने पहुंचे थे। इन अधिकारियों में भवन निर्माण के अधिकारी भी शामिल थे। हालांकि उस वक़्त तेजस्वी अपने निवास पर नहीं थे। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अब तेजस्वी को बंगला खाली करने के साथ ही 50 हजार रुपए का जुर्माना भी देना पड़ेगा।

(प्रभात)

PM मोदी के खिलाफ बंटे पोस्टर

MP RAHUL GANDHI LIVE : जंबूरी मैदान से ललकार

किसानों के लिए सम्मान निधि पोर्टल शुरू

रहें हर खबर से अपडेट, ‘टैलेंटेड इंडिया’ के साथ| आपको यहां मिलेंगी सभी विषयों की खबरें, सबसे पहले| अपने मोबाइल पर खबरें पाने के लिए आज ही डाउनलोड करें Download Hindi News App और रहें अपडेट| ‘टैलेंटेड इंडिया’ की ख़बरों को फेसबुक पर पाने के लिए पेज लाइक करें – Talented India News
Share.