website counter widget

जहरीली और दमघोंटू दिल्ली-NCR में  प्रदूषण का स्तर 700 पार

0

दिल्ली (Delhi News) की हवा लगातार जहरीली और दमघोंटू होती जा रही है। दिल्ली की हवा वहाँ रहने वाले लोगों का जीवन कम करने जा रही है। शुक्रवार को भी धुंध की मोटी चादर में लिपटी रही और लगातार चौथे दिन प्रदूषण का स्तर ‘‘गंभीर” की श्रेणी में रहा। आज भी यही हालात बने हुए हैं। आज केंद्रीय शहरी विकास मंत्रालय (Union Urban Development Ministry ) ने संसदीय समिति की बैठक बुलाई थी, जिसे बाद में स्थगित करना पड़ा। द्वारका, पूसा रोड, सत्यवती कॉलेज, पंजाबी बाग में प्रदूषण का स्तर 700  पार पहुंच चुका है।

दिल्ली के अधिकारियों ने बताया कि हवा की धीमी गति भी प्रदूषण बढ़ने का एक कारण है क्योंकि इसके कारण प्रदूषक तत्व एक ही स्थान पर ठहरे रहते हैं और यहां वहां छितर नहीं पाते। इससे प्रदूषण और बढ़ता जाता है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (Central pollution control board ) का कहना है कि वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुँच गया है। सीपीसीबी (CPCB ) के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, ग्रेटर नोएडा, फरीदाबाद, गुड़गांव और गाजियाबाद में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ की श्रेणी में दर्ज की गयी। गाजियाबाद में वायु गुणवत्ता सूचकांक सर्वाधिक 480 दर्ज किया गया।

एयर प्यूरीफायर लगाने पर विचार

दिल्ली के प्रदूषण पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme court ) में सुनवाई हुई, जिसमें कोर्ट ने पूछा कि ऑड-इवेन से प्रदूषण के स्तर पर क्या असर पड़ा है। इसके साथ ही कहा कि  दिल्ली में एयर प्यूरीफायर लगाने पर विचार किया जाए। इसके पहले कोर्ट ऑड इवेन सिस्टम पर भी सवाल उठा चुका है और कह चुका है कि सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को कहा था कि क्या ऑड इवेन लगाने से दिल्ली में प्रदूषण में कोई कमी हुई, क्या घरों में गाड़ी खड़ी करने पर प्रदूषण कम होगा। एनजीटी भी दिल्ली सरकार को फटकार लगा चुका है। एनजीटी ने पूछा‌ था कि प्रदूषण को नियंत्रण में करने वाली आपकी टीम क्या कर रही है।

  – Ranjita Pathare 

ट्रेंडिंग न्यूज़
[yottie id="3"]
Share.