अयोध्या के बाद सुप्रीम कोर्ट दे सकती है राहुल गांधी पर फैसला

0

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने शनिवार 9 नवंबर को अयोध्या राम जन्म भूमि विवाद मामले (Ayodhya Dispute Case) में ऐतिहासिक फैसला सुनाया। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश (CJI) रंजन गोगोई (Ranjan Gogoi) सेवानिवृत होने से पहले इस मामले में अपना फैसला सुनना चाहते थे। अब गोगोई का कार्यकाल समाप्त होने जा रहा है। लेकिन ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि राम मंदिर पर फैसला देने के बाद अब गोगोई अपने कार्यकाल की समाप्ति से पहले राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के खिलाफ दर्ज मुक़दमे में भी फैसला सुना सकते हैं। दरअसल राहुल गांधी का मामला लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) के समय का है।

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) के दौरान राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) को राफेल मामले में “चौकीदार चोर है” से जोड़ दिया था। इसके बाद भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी (Meenakshi Lekhi) ने उनके खिलाफ अवमानना याचिका दायर कर दी थी। मिनाक्षी के वकील मुकुल रोहतगी (Mukul Rohatgi) ने कोर्ट में कहा कि अपने बयान को लेकर राहुल गांधी ने सिर्फ खेद प्रकट किया है, माफ़ी नहीं मांगी है। जबकि राहुल को अपने बयान पर मांफी मांगनी चाहिए। इसके बाद अदालत ने राहुल गांधी को अवमानना नोटिस जारी कर दिया था। हालांकि लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) के चलते सुप्रीम कोर्ट ने गांधी को कोर्ट में पेशी से छूट की राहत प्रदान की थी।

बता दें कि राफेल रमझौता मामले में गड़बड़ी के आरोप वाली पुर्विचार याचिका दायर की गई थी। इस याचिका को सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) द्वारा स्वीकार कर लिए जाने पर राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने अपने एक चुनावी भाषण के दौरान कहा कि, “कोर्ट ने भी मान लिया है कि ‘चौकीदार चोर है’।” हालांकि राहुल गांधी ने इसमें पीएम मोदी (PM Modi) का नाम नहीं लिया था। राहुल के इस बयान के बाद सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें नोटिस थमा दिया था। इस नोटिस के जवाब में राहुल ने कहा कि उन्हें अपने बयान पर खेद है। राहुल के द्वारा अपने बयान पर खेद जताए जाने के बाद भी भाजपा को ख़ुशी नहीं हुई और भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी (Meenakshi Lekhi) के वकील ने कोर्ट में कहा कि राहुल गांधी ने अपने बयान पर सिर्फ खेद जताया है मांफी नहीं मांगी है।

इसके बाद जब मीनाक्षी लेखी (Meenakshi Lekhi) के वकील मुकुल रोहतगी (Mukul Rohatgi) से सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने पूछा कि चौकीदार कौन है? इसके जवाब में रोहतगी ने कहा था कि, राहुल गांधी देश की जनता से यह कह रहे हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही ‘चौकीदार’ चोर हैं।’ इसके जवाब में राहुल गांधी के वकील अभिषेक मनु सिंघवी (Abhishek Singhvi) ने कहा कि राहुल गांधी अपने इस बयान पर खेद जाता चुके हैं। लेकिन लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2019) होने की वजह से इस मामले को बेवजह ही खींचा जा रहा है। अब इस मामले में कोर्ट क्या फैसला सुनाता है यह देखने वाली बात होगी।

Prabhat Jain

Share.