एक तरफा प्यार में पुलिस अधिकारी ने की साथी पुलिस अधिकारी की हत्या

0

देश की राजधानी दिल्ली (Delhi), राजनीती का केंद्र दिल्ली और अब तो अपराधों का गढ़ भी दिल्ली ही कहलाता हैं। हत्या, लूट, बलात्कार जैसे दिल्ली (Deepanshu Rathi Killed Women Inspector) की रोजमर्रा की जिंदगी में शामिल हो गए हैं। नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो (National Crime Records Bureau) के आकड़ों पर नज़र डालें तो केवल साल 2018 -2019 में ही दिल्ली के पुलिस थानों में 2,,37,660 आपराधिक मामले दर्ज़ हुए। गौर करने वाली बात ये है कि ये तो वो मामले हैं जो पुलिस की नज़र में आए लेकिन लगभग 1 करोड़ 10 लाख की जनसंख्या वाले दिल्ली शहर की सड़कों पर हर रोज हत्या, लूट, बलात्कार, दुर्घटना, जालसाज़ी के ना जाने कितने मामले घटित होते हैं जो प्रकाश में नहीं आते। लेकिन फिर भी दिल्ली में मौजूद 84,536 पुलिस वाले (Delhi Police) दिन रात सजगता से अपनी ड्यूटी को अंजाम देते हैं और कोशिश करते हैं कि देश की राजधानी का नाम बदनाम ना हो। क्योंकि दिल्ली (Deepanshu Rathi Killed Women Inspector) की सीमाएं हरियाणा (Haryana) और उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh) दोनों से जुड़ती हैं। यही कारण है कि यहां पर अपराधों की दर अन्य राज्यों के मुकाबले ज्यादा ही होती है। लेकिन अगर वही पुलिस हत्यारी बन जाए तो क्या? और उससे भी बड़ी बात तो ये है की हत्यारी बनी पुलिस अपने ही पुलिस साथियों की हत्या करने लगे तो क्या किया जाएगा।

Fire in Delhi : दिल्ली में ज़िंदा जले 9 लोग, जानिए पूरा मामला

एक तरफा प्यार में पुलिस अधिकारी ने की साथी पुलिस अधिकारी की हत्या

एक तरफा प्यार में पुलिस अधिकारी ने की साथी पुलिस अधिकारी की हत्याराजधानी दिल्ली से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है जिसे जानकर दिल्लीवासी ही नहीं बल्कि खुद दिल्ली पुलिस भी हैरान रह गई। यहां एक पुलिस अधिकारी ने अपने ही थाने में पदस्त साथी महिला पुलिस अधिकारी की, रोहिणी ईस्ट मेट्रो स्टेशन पर गोली मारकर हत्या कर दी। #DelhiMurderCase #DelhiPolice

Talented India News द्वारा इस दिन पोस्ट की गई शनिवार, 8 फ़रवरी 2020

आज हम आपको एक ऐसा ही सनसनीखेज मामला बताने जा रहे हैं (Deepanshu Rathi Killed Women Inspector) जहां एक पुलिस अधिकारी (Police Officer) ने अपने ही थाने में पदस्त साथी महिला पुलिस अधिकारी की, रोहिणी ईस्ट मेट्रो स्टेशन (Rohini East Metro Station) पर गोली मारकर हत्या कर दी। लेकिन हत्या का ये मामला तब और सनसनीखेज़ हो गया जब महिला अधिकारी की हत्या करने के बाद वहां से फरार हो चुके पुलिस वाले ने खुद को भी गोली मारकर आत्महत्या कर ली। इस हत्याकांड की जानकारी देते हुए पुलिस अधिकारीयों (Delhi Police) ने पत्रकारों को बताया की आरोपी दीपांशु राठी (Deepanshu Rathi) दिल्ली के पटपड़गंज इंडस्ट्रियल एरिया (Patparganj Industrial Area) के पुलिस थाने में सब इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत था। इसी पटपड़गंज इंडस्ट्रियल एरिया के पुलिस थाने में ही प्रीती अहलावत (Preeti Ahlawat) भी सब इंस्पेक्टर की पोस्ट पर कार्यरत थी। साल 2018 में ही प्रीती अहलावत ने पुलिस विभाग ज्वाइन किया था।

Delhi Nirbhaya case: निर्भया के दरिंदों का होगा अंगदान  ?

जांच कर रही पुलिस टीम (Police Team) ने बताया, रोज़ की तरह ही मृतक प्रीती (Preeti Ahlawat) शुक्रवार रात करीब 9:30 बजे रोहिणी ईस्ट मेट्रो स्टेशन (Rohini East Metro Station) से उतरकर अपने घर की तरफ जा रही थी तभी वहा पर आरोपी दीपांशु (Deepanshu Rathi Killed Women Inspector) आ गया। इसके पहले कि प्रीती Preeti Ahlawat) कुछ समझ पाती, सब इंस्पेक्टर इंपेक्टर दीपांशु (Deepanshu Rathi) ने उसके सर पर गोली मार दी और वहां से भाग निकला। अचेत अवस्था में प्रीती को अस्पताल ले जाया गया जहा डॉक्टरों ने प्रीती को मृत घोषित कर दिया। इस सनसनीखेज़ हत्याकांड से पुलिस सकते में आ गई और फ़ौरन पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी। हत्यारे का पता लगाने के लिए पुलिस ने रोहिणी ईस्ट मेट्रो स्टेशन की वीडियो फुटेज खंगाले तो वो भी चकरा गए। क्योंकि हत्या करनेवाला कोई और नहीं, उन्ही के पुलिस विभाग का सब इंस्पेक्टर दीपांशु (Deepanshu Rathi) है। इसके बाद पुलिस दीपांशु (Deepanshu Rathi) की खोज में जुट गई। लेकिन कुछ समय बाद पुलिस को पता चला कि सब इंस्पेक्टर दीपांशु (Deepanshu Rathi) की लाश हरियाणा के करनाल में पड़ी है। जांच के दौरान ये बात सामने आई की दीपांशु (Deepanshu Rathi) ने आत्महत्या की है।

https://twitter.com/dwivedi344/status/1225886045310521344?s=20

दीपांशु (Deepanshu Rathi Killed Women Inspector) ने प्रीति की हत्या क्यों की इस राज़ पर अब तक पर्दा पड़ा हुआ है, लेकिन पुलिस (Delhi Police) की टीम इस हत्या और उसके बाद ह्त्यारे की आत्महत्या की उलझी गुत्थी को सुलझाने में जुटी है। पुलिस प्रेम संबंधो के चलते विवाद और हत्या की बात से भी इंकार नहीं कर रही है। पुलिस का मानना है एक तरफा मोहब्बत के कारण ही दीपांशु (Deepanshu Rathi Killed Women Inspector)ने प्रीती अहलावत की हत्या की है और बाद में खुद को भी गोली मार ली। बहरहाल दिल्ली में क्या जनता, क्या पुलिस सभी अपराधों के साए में जिंदगी जी रहे हैं। दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की इतनी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था होने के बाद भी अपराधी अपने जुर्म को अंजाम दे देते हैं। राजधानी दिल्ली में अपराधी पूरी तरह से बेख़ौफ़ हो चुके हैं जिसके चलते अब राजधानी अपराधों की नगरी बनती जा रही है। अपराधियों को अपराध करने की हिम्मत भारत की न्याय प्रणाली देती है क्योंकि अपराधियों को सजा मिलने में काफी समय लग जाता है और पीड़ितों को जल्द न्याय नहीं मिल पाता। यही लचर न्याय प्रणाली अपराधियों को बेखौफ अपराध करने के लिए उकसाती है।

Delhi Fire : 43 लोगों की कब्रगाह बनी फैक्ट्री, देखें मृतकों की सूची

Prabhat Jain

Share.