Naxal violence : बड़े नेता का अपहरण, फिर हत्या

0

आतंकवाद के साथ ही नकसलवाद (Naxal violence) भी देश को खोखला करते जा रहा है। एक तरफ जहां सीमा पर आतंकी जवानों पर वार करते हैं, वहीं दूसरी तरफ देश के भीतर छीपे नक्सली भी जवानों और नेताओं पर हमले करते हैं। ऐसे ही छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में फिर से एक बड़े नेता (Samajwadi Party leader Santosh Punem ) का अपहरण और फिर हत्या कर दी गई। मामला बीजापुर जिले का है, जहां नक्सलियों ने एक बड़ी वारदात को अंजाम दिया।

पेट्रोल-डीजल नहीं, अब सड़कों पर चलेंगी इलेक्ट्रॉनिक गाड़ियां

जानकारी के अनुसार, नक्सलियों ने समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के नेता संतोष पुनेम (Samajwadi Party leader Santosh Punem ) का अपहरण कर लिया था। इसके बाद उन्होंने फिरौती की मांग की। जब नक्सलियों की मांग पूरी नहीं हुई , तो उन्होंने नेता की हत्या कर दी। इस घटना का खुलासा उस समय हुआ, जब बीजापुर में एक युवक की लाश मिली। आसपास के लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और जांच में जुट गई।

आखिर क्यों कांप रही थी जर्मन चांसलर, Video हुआ Viral

समाजवादी पार्टी के नेता संतोष पुनेम (Samajwadi Party leader Santosh Punem ) का कुछ समय पहले ही नक्सलियों ने अपहरण कर लिया था। वे लोदेड गांव में चल रहे सड़क निर्माण कार्य को देखने पहुंचे थे, तभी नक्सलियों ने उनका अपहरण कर लिया। पूनेम पिछले विधानसभा चुनाव में सपा से विधायक प्रत्याशी भी रहे थे। नक्सलियों ने धारदार हथियार से हमला कर युवक को मौत के घाट उतार दिया।

घटना के बारे में एसपी दिव्यांग पटेल का कहना है कि पुलिस टीम को घटना स्थल के लिए रवाना कर दिया गया है। इलमिडी थाना क्षेत्र के मरिमल्ला गांव के नज़दीक नक्सलियों ने इस घटना को अंजाम दिया है। इस घटना के बाद इलाके में दहशत का माहौल है। इसके पहले बिशुनपुर थाना क्षेत्र के कटिया गांव में भाजपा कार्यकर्ता सह मुर्गा कारोबारी ब्रजेश साहु (38) की भी नक्सलियों ने अपहरण कर हत्या कर दी थी। घटनास्थल पर माओवादियों ने पर्चा फेंक कर हत्या की जिम्मेदारी ली थी। इन दोनों घटनाओं से ग्रामीणों में खौफ पसर गया और वे अपने घरों में कैद हो गया।

नए लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला का सफ़रनामा

Share.