प्रधानमंत्री मोदी के रात्रिभोज में नहीं पहुंचे सोनिया, राहुल व अखिलेश

0

राजधानी दिल्ली में गुरुवार रात को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा रात्रिभोज का आयोजन किया गया। इस रात्रि भोज में दोनों सदनों के 750 से भी अधिक सदस्यों को आमंत्रित किया गया था। यह रात्रिभोज राजधानी दिल्ली के पांच सितारा होटल ‘अशोक’ में आयोजित किया गया था। इस भोज के लिए लोकसभा और राज्यसभा के सभी सदस्यों को निमंत्रण दिया गया था। लेकिन सोनिया गांधी, राहुल गांधी और अखिलेश यादव जैसे प्रमुख विपक्षी नेता प्रधानमंत्री मोदी के इस रात्रिभोज में शामिल नहीं हुए।

International Yoga Day : योग दिवस पर कुत्तों ने किया प्राणायाम

इस रात्रिभोज में तृणमूल कांग्रेस (TMC), वाम दलों जैसे माकपा (MKP), भाकपा (BKP), बहुजन समाज पार्टी (BSP) और राजद (RJD) के सांसद आदि भी नदारद रहे। हालांकि प्रधानमंत्री मोदी के इस रात्रिभोज में राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद के अलावा राजग और कई अन्य वाम पंथी दलों के नेता शामिल हुए। इस भोज में द्रमुक की कनिमोई, आप के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह, भाजपा में शामिल हुए तेदेपा के तीन राज्यसभा सदस्य वाई एस चौधरी, सी एम रमेश और टी जी वेंकटेश भी उपस्थित रहे। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह भोज आयोजित किए जाने के पीछे प्रमुख कारण यह था कि दोनों सदनों के सदस्य एक अनौपचारिक माहौल में मुलाकात कर सकें।

एक ऐसा गांव जहां रहते हैं केवल 2 लोग

इस रात्रिभोज के बारे में भाजपा नेता राजीव प्रताप रूडी ने कहा, “सांसदों ने प्रधानमंत्री के साथ एक बहुत अनौपचारिक माहौल में संवाद किया और वे उनके साथ सेल्फी लेते हुए देखे गये।” रूडी ने आगे कहा कि रात्रिभोज का माहौल बहुत सौहार्द्रपूर्ण था और सभी नेताओं ने आपस में काफी संवाद किया। मिली जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी ने पूर्व लोकसभाध्यक्ष सुमित्रा महाजन के कार्य और उनकी भूमिका की काफी सराहना की। पीएम मोदी ने संसद का सत्र शुरू होने से पहले एक सर्वदलीय बैठक का आयोजन किया था। इस बैठक में पीएम मोदी ने कहा था कि जनहित के मुद्दों पर विचार-विमर्श करने के लिए सभी को अपने राजनीतिक मतभेदों को दरकिनार करना होगा।

भय्यू महाराज के बाद एक और संत ने लगाई फांसी

Share.