कहीं बस तो कहीं पुलिस चौकी फूंकी

0

देशभर में एसटी/एससी एक्ट में सुप्रीम कोर्ट द्वारा किए गए बदलाव को लेकर दलित संगठनों द्वारा विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है| विरोध में आज भारत बंद का आव्हान किया गया है| कई प्रदेशों में चक्काजाम कर और ट्रेन रोककर प्रदर्शन किया गया| वहीं कुछ प्रदेशों में इस विरोध प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया है|  

मध्यप्रदेश के ग्वालियर और चंबल क्षेत्र में तोड़फोड़ की घटनाएं हो रही हैं| ग्वालियर के कई इलाकों में तोड़फोड़, पथराव, गोलीबारी और आगजनी की खबर है| वहीं भिंड में भीमसेना ने ट्रेन रोकने के लिए पटरी पर ही डेरा जमा लिया| प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में कर्फ्यू लगा दिया गया है|

तीन  व्यक्तियों की मौत

मुरैना में जमकर हिंसा देखने को मिल रही है| यहां विरोध प्रदर्शन के प्रदर्शनकारियों के हवाई फायरिंग कर दहशत फैलाने की वजह से हालात बेकाबू हो गए| इस दौरान एक व्यक्ति की मौत भी हो गई| पुलिस को प्रदर्शनकारियों पर काबू पाने में काफी दिक्कतें आ रही है| वहीं ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में भी 2 लोगों की जान चली गई है| जानकारी के मुताबिक, प्रदेश में इस हिंसा से अब तक 3 लोगों की मौत हो गई है, जबकि दर्जनों घायल हुए हैं| प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने शांति बनाए रखने की अपील की है और जानकारी दी है कि, केंद्र सरकार द्वारा सुप्रीम कोर्ट में पुनः विचार याचिका दर्ज कर दी गई है|

मध्यप्रदेश के अलावा राजस्थान, उत्तरप्रदेश और बिहार के कई शहरों में भी प्रदर्शनकारियों का हिंसक रूप देखने को मिल रहा है| मेरठ में तो प्रदर्शनकारियों ने कई वाहनों में तोड़फोड़ करने के साथ वाहनों और पुलिस थाने में आग लगा दी| बिहार में जबरन दुकानें बंद कराई जा रही हैं| प्रदर्शनकारियों ने दिल्ली-देहरादून हाईवे पूरी तरह से बंद कर दिया है| यहां प्रदर्शनकारियों ने 2 बसों को आग के हवाले कर दिया है|

पंजाब में दलितों की संख्या सबसे अधिक है, जिस वजह से सुरक्षा के चलते यहां पहले ही भारी सुरक्षा बल तैनात कर दिया गया है| इस बीच केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दायर कर दी है|

Share.