website counter widget

मैं सांसद नहीं, दीदी हूं, इसी रिश्ते पर आगे बढ़ूंगी

0

राजनीति ने यदि अभी हम किसी को दीदी के तौर पर याद करते हैं, तो जहन में सबसे पहले ममता दीदी यानी बंगाल की मुख्यमंत्री मंमता बनर्जी (Mamata Banerjee) का ही चेहरा सामने आता है, लेकिन अब राजनीति में एक और दीदी का प्रवेश हो चुका है। केंद्रीय महिला एवं बाल विकास व कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी (Amethi) पहुंची और वहां की जनता से कहा कि वे उन सबकी दीदी है।

अब धोती- कुर्ता पहनकर ट्रेन में सफर करना हुआ बैन!

 जानकारी के अनुसार, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) एक दिन के दौरे पर शनिवार को अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के सलोन विधानसभा क्षेत्र के कांटा गांव पहुंचीं। वहां उन्होंने चौपाल लगाकर लोगों की समस्याओं के बारे में जाना। उन्होंने सलोन विधानसभा क्षेत्र के कांटा गांव में ‘दीदी आपके द्वार’ कार्यक्रम के तहत पहली चौपाल पूर्व माध्यमिक विद्यालय में लगाई। इस दौरान उन्होंने लोगों की समस्याएं सुनकर जिम्मेदार अधिकारियों को तत्काल निराकरण कराने के निर्देश दिए।

लोकायुक्त की छापामार कार्रवाई, रिश्वत लेते पटवारी गिरफ्तार

चौपाल में ईरानी ने कहा कि मैं  यह बता दूं कि अमेठी ने 23 मई को अपना सांसद नहीं, दीदी को चुना है। मैं उसी रिश्ते के साथ आगे बढ़ रही हूं। उन्होंने कहा कि सांसद का कर्तव्य होता है कि वह विधायक और प्रदेश सरकार के साथ मिलकर क्षेत्र में विकास योजनाओं को क्रियान्वित करेंगे। उन्होंने लोगों की समस्याएं सुनकर जिम्मेदार अधिकारियों को तत्काल निराकरण के निर्देश दिए। उन्होंने आगे कहा कि अभी दो माह भी मुझे सांसद बने नहीं हुआ है और 50 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का काम किया गया। इससे पहले तिलोई में 34 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास लोकार्पण किया था। आज फिर 18 करोड़ रुपये की परियोजना का शिलान्यास व लोकार्पण किया गया है। इस दौरे पर वह जगदीशपुर के कठौरा में राजकीय डिग्री कॉलेज और फायर स्टेशन की आधारशिला रखने के साथ कई अन्य योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। इसके साथ गौरीगंज में ‘सखी वन स्टॉप सेंटर’ की आधारशिला रखी। अपने दौरे के दौरान उन्होंने पौधरोपण भी किया।

राहुल गांधी ने पटना कोर्ट में किया आत्मसमर्पण, जमानत पर छूटे

Summary
Review Date
Author Rating
51star1star1star1star1star
ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.