website counter widget

Video : शिवसेना को सत्ता दिलाने के लिए टावर पर चढ़ा शिवसैनिक

0

महाराष्ट्र में 24 अक्टूबर को चुनाव परिणाम घोषित हो जाने के बाद से ही मुख्यमंत्री की कुर्सी को लेकर खींचतान मची हुई है। जहां राज्य के सबसे बड़े गठबंधन भाजपा (BJP) और शिवसेना (Shiv Sena) 50-50 फॉर्मूले पर अटके रहे, वहीं शिवसेना को सरकार बनाने का न्योता देने के बाद वह NCP और Congress के साथ मिलकर सरकार का गठन नहीं कर सकी। हालांकि इसके बाद जहां भाजपा और शिवसेना के बीच 30 साल पुराने गठबंधन में दरार पड़ गई वहीं महाराष्ट्र में राज्यपाल को आखिरकार राष्ट्रपति शासन लगाना पड़ा। जहां एक तरफ शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) (Uddhav Thackeray) अपनी बात अड़े हुए हैं और शिवसेना-भाजपा गठबंधन तोड़ने पर आमादा हैं, वहीं दूसरी तरफ आज नंदुरबार जिले के करली गांव में एक शिवसैनिक मोबाइल टावर (Mobile Tower) पर चढ़ गया।

दरअसल जो शख्स मोबाइल टावर (Mobile Tower) पर चढ़ा उसका नाम तुकाराम भीका पाटिल (Tukaram Bhika Patil) बताया जा रहा है। तुकाराम साल 2003 से लेकर 2013 तक शिवसेना शाखा के प्रमुख रह चुके हैं। मोबाइल टावर पर चढ़कर तुकाराम ने शिवसेना से अपील की है कि वह NCP और Congress के साथ गठबंधन न करे। अपने आंदोलन का तुकाराम भीका पाटिल ने बेहद ही अनोखा तरीका निकाला है। उन्होंने मोबाइल टावर पर चढ़कर शिवसेना से भाजपा के साथ गठबंधन बनाए रखने की अपील करते हुए कहा कि शिवसेना भाजपा के साथ मिलकर जल ही प्रदेश में स्थिर सरकार का गठन करे।

जैसे ही तुकाराम (Tukaram Bhika Patil) के मोबाइल टावर (Mobile Tower) पर चढ़ जाने की खबर पुलिस को मिली तो तत्काल ही पुलिसकर्मी मौके पर पहुंच गए। मोबाइल टावर की चोटी पर चढ़े तुकाराम ने कहा कि हम सरकार के घोटालों को नहीं चाहते हैं। उन्होंने कहा कि पहले ही बहुत नुकसान उठा चुके हैं। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने शिवसेना और भाजपा के गठबंधन को हमेशा बेहद प्यार दिया है। प्रदेश की जनता ने उसी प्यार और विशवास के साथ इस बार भी महायुति को जनादेश दिया है। लेकिन शिवसेना ने भाजपा के साथ नाता तोड़ जनादेश का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में महायुति की सरकार बनाने के लिए दोनों दलों को एक साथ आना चाहिए।

आंदोलनकारी तुकाराम (Tukaram Bhika Patil) टावर की चोटी पर चढ़ कर शिवसेना से लगातार NCP और Congress के साथ मिलकर सरकार न बनाने की अपील कर रहा था। पुलिस के लाख समझाने के बाद भी तुकाराम मोबाइल टावर (Mobile Tower) से नीचे उतरने को तैयार नहीं था। काफी मशक्कत करने के बाद आखिरकार पुलिसकर्मी तुकाराम को मोबाइल टावर से नीचे उतारने में कामयाब हो सके। इस पूरे घटनाक्रम का वहां मौजूद भीड़ में से किसी शख्स ने वीडियो बना लिया जो अब सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है।

Prabhat Jain

ट्रेंडिंग न्यूज़
[yottie id="3"]
Share.