website counter widget

पीएम मोदी के सपनों को चूर-चूर करने पर आमादा शिवसेना!

0

महाराष्ट्र में कुर्सी की लड़ाई जारी है। अभी तक महाराष्ट्र में सरकार गठन का रास्ता साफ़ नहीं हो पाया है। वहीं शिवसेना (Shiv Sena), कांग्रेस (Congress) और NCP के बीच लगातार बैठकों का दौर जारी है। तीनों पार्टियां गठबंधन सरकार बनाने को लेकर कॉमन मिनिमम प्रोग्राम (CMP) पर गहराई से मंथन कर रही हैं। तीनों पार्टियां हर एक मुद्दे पर गहनता से विचार-विमर्श कर रही हैं। ऐसे में कयास लगाए जा रहे हैं कि यह गठबंधन सरकार महाराष्ट्र के किसानों के लिए कोई बड़ी घोषणा भी कर सकती है। ऐसा माना जा रहा है कि यह गठबंधन सरकार पीएम मोदी (PM Narendra Modi) के बुलेट ट्रेन के सपनों को चूर-चूर कर सकती है। दरअसल किसानों की कर्जमाफी के लिए यह गठबंधन सरकार बुलेट ट्रेन (Bullet Train) की कुर्बानी दे सकती है। बुलेट ट्रेन के लिए महाराष्ट्र सरकार की तरफ से दी जाने वाली राशि का इस्तमाल किसानों की कर्जमाफी के लिए किया जा सकता है।

अल्पसंख्यकों को बाबुओं की दया पर छोड़ना चाहते हैं मोदी

हालांकि अभी तीनों पार्टियां शिवसेना (Shiv Sena), कांग्रेस (Congress) और NCP गहरा विचार-विमर्श कर रही हैं। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट (Dream Project) बुलेट ट्रेन है जिस पर गठबंधन सरकार पानी फेरने की तैयारी कर रही है। बता दें कि देश में पहली बुलेट ट्रेन (Bullet Train) अहमदाबाद से मुंबई तक चलाई जानी है। भारत में बुलेट ट्रेन को जापान की सहायता से तैयार किया जा रहा है। इस बुलेट ट्रेन की नीव प्रधानमंत्री मोदी और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे द्वारा लोकसभा चुनाव (Loksabha Election 2019) के पहले रखी गई थी। फिलहाल शिवसेना, कांग्रेस और NCP आपस में मंथन कर रहीं और महाराष्ट्र में सरकार के गठन को लेकर अभी तक कोई भी स्पष्टता सामने नहीं आई है।

Video Viral : देखें कैसे बंगाल में कानून के नाम पर पुलिस कर रही हैवानियत

बता दें कि इस चर्चा के दौरान शिवसेना (Shiv Sena) इस गठबंधन को म्युनिसिपल कारपोरेशन (Municipal Corporation) स्तर तक ले जाने की जुगत जमा रही है। मौजूदा समय में मुंबई, ठाणे, नासिक और कल्याण-डोंबिवली में भाजपा-शिवसेना का राज है लेकिन इन पर अब नए गठबंधन का असर पड़ेगा। पहले जहां शिवसेना ने कल्याण-डोंबिवली में मेयर का पद 4 साल के लिए अपने पास रखने और बाकी बचे एक साल भाजपा को देने का निर्णय लिया था, वहीं अब शिवसेना अपनी बात से मुकर गई है और ये पद छोड़ने से इंकार कर रही है। वहीं राजधानी दिल्ली में बैठकों का दौर जारी है और कांग्रेस (Congress) व NCP लगातार बैठक कर गठबंधन पर चर्चा कर रही है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार के दिन NCP शिवसेना से फाइनल बातचीत करेगी। इसके बाद ही महाराष्ट्र में इस नए गठबंधन की सरकार की तस्वीर साफ़ हो पाएगी।

Video Viral : देखें कैसे बंगाल में कानून के नाम पर पुलिस कर रही हैवानियत

Prabhat Jain

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.