पुलिस-वक़ील विवाद में शशि थरूर ने साधा सरकार पर निशाना

0

नई दिल्ली: केरल के तिरुवनंतपुरम से कांग्रेस सांसद शशि थरूर (Shashi Tharoor) अक्सर अपने सोशल मीडिया पर पोस्ट को लेकर सुर्ख़ियों में रहते है. अब एक बार फिर वह एक पोस्ट साझा करके सुर्ख़ियों में आ गए है। ये पोस्ट दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट (Tis Hazari Court) में पुलिस और वकीलों के बीच हो रहे विवादों को लेकर है उन्होंने ट्विटर पर एक पोस्ट में लिखा ‘पुलिस स्वंय संरक्षण मांगे, वकील माँगते न्याय अच्छे दिन प्रारम्भ हो गए, ये है प्रथम अध्याय !’ इस पोस्ट से साफ़ झलक रहा है की वह सरकार पर निशाना साध रहे है (Shashi Tharoor Delhi Police Lawyer Clashes). वैसे तो शशि थरूर अक्सर अंग्रेजी में पोस्ट करते है लेकिन इस समय हिंदी में काफी रूचि दिखा रहे है। और शुद्ध हिंदी शब्दों के तंज भरे माध्यम से वह सरकार पर निशाना साधते है।

cognizant के बाद infosys ने हजारों कर्मचारियों को निकाला!

जानकारी के अनुसार दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट (Tis Hazari Clashes) परिसर में पार्किंग को लेकर 2 नवंबर को मामूली विवाद हुआ, जो धीरे-धीरे पुलिस और वकीलों के बीच बड़े टकराव में बदल गया. इस दौरान एक अफवाह फैली कि पुलिस की गोली से एक वकील की मौत हो गई है, जिसके बाद कोर्ट परिसर में वकीलों ने हंगामा कर दिया. आक्रोशित वकीलों ने कोर्ट परिसर में खड़ी कई गाड़ियों में तोड़फोड़ की और कुछ वाहनों को आग के हवाले कर दिया.जिसके बाद से मामला लगतारा बढ़ता गया (Shashi Tharoor Delhi Police Lawyer Clashes)। इस मामले पर आज दिल्ली हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है. हाईकोर्ट में इस मामले पर बार काउंसिल ऑफ इंडिया और दूसरे बार काउंसिलों को नोटिस जारी किया था. दिल्ली हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस डीएन पटेल ने कहा था कि वकीलों को शांति बनाये रखना चाहिए।

पीएम मोदी के दोस्त ने किया भारत से दगा

अभी हाल ही में उन्होंने दिल्ली प्रदूषण पर भी एक पोस्ट के माध्यम से भाजपा सरकार पर तंज था जिसमे उन्होंने लिखा था कब तक जिंदगी काटोगे सिगरेट, बीड़ी और सिगार में.. कुछ दिन तो गुजारो Delhi-NCR में. और उसी तस्वीर में नीचे लिखा है डेल्ही इज इंजरियस टू हेल्थ मतलब दिल्ली स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है।

ISIS के निशाने पर है भारत अमेरिकी अधिकारियों का दावा

-Mradul tripathi

Share.