भारत का हुआ पूरा कश्मीर,हट गई धारा 370 और 35ए!

0

जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) से केंद्र सरकार आर्टिकल 35-ए खत्म (Section 370 and 35 A ) करने के लिए पिछले काफी समय से कोशिश में जुटी हुई थी, लेकिन सरकार को कामियाबी बस मिलने वाली है! अब पूरा जम्मू-कश्मीर भारत का होने वाला है! सरकार द्वारा किये जा रहे प्रयासों का फल मिलने वाला है! धारा 370 और 35-ए के हटते (Section 370 And 35A Will Be Removed) ही धरती का स्वर्ग पूरा भारत की झोली में आ जाएगा।  इस बात की जहां देश में खुशियां मनाई जा रही है वहीँ कुछ ऐसे नेता भी है जो इस फैसले के विरोध में हैं।

बड़ी खबर : राज्य सभा में Triple Talaq Bill पास….

   संविधान में कब जोड़ी गई धारा 35-ए

आर्टिकल 35-ए आजादी के बाद संविधान का हिस्सा बना। आजादी के सात साल बाद सन् 1954 में इसे संविधान में जोड़ा गया था। इसकी सिफारिश नेहरू कैबिनेट ने की थी, इसके बाद तत्कालीन राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद के एक आदेश से संविधान में जोड़ा गया था। इस आर्टिकल में कश्मीर राज्य को विशेष दर्जा दिया गया था, लेकिन इससे आतंकी गतिविधियों के बढ़ने और राज्य में अशांति फैलने के कारण इसे हटाया जा रहा है।

आज़म खान के हमसफर पर चला बुलडोजर!

क्यों आग बबूला हुई महबूबा मुफ़्ती

जैसे ही कश्मीर से धार 370 और 35-ए को हटाने (Section 370 And 35A Will Be Removed) की बात होती है वैसे ही कश्मीर के सत्ताधारी तिलमिला जाते हैं। सभी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल देते हैं। हाल ही में इस मुद्दे पर जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ़्ती ने कहा था कि 35ए के साथ छेड़छाड़ करना बारूद को हाथ लगाने के बराबर होगा। उन्होंने कहा, जो हाथ 35ए के साथ छेड़छाड़ करने के लिए उठेंगे, वो हाथ ही नहीं वो सारा जिस्म जल के राख हो जाएगा।

हम अपनी आखिरी सांस तक कश्मीर की रक्षा करेंगे। पीडीपी कभी समाप्त नहीं होगी। हमें एक बड़ी लड़ाई के लिए तैयार रहने की जरूरत है। चुनाव आते हैं और चले जाते हैं लेकिन असली लड़ाई जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे के लिए लड़ना है। हम राज्य की स्थिति को बचाने के लिए किसी भी हद तक जाएंगे।

VIDEO : युवक ने सरेआम पुलिस अधिकारी को किया किस

महबूबा मुफ़्ती के जैसे ही नेशनल कॉन्फ्रेंस के प्रमुख फारूक अब्दुल्ला ने भी इस मुद्दे पर केंद्र सरकार की आलोचना की। उनका कहना है कि ‘आर्टिकल 35-ए और आर्टिकल 370 को नहीं हटाया जाना चाहिए। इसकी वजह से हमारी नींव स्थापित हुई है। हम हिंदुस्तानी हैं, लेकिन हमारे लिए ये धाराएं महत्वपूर्ण हैं।’ वहीँ इस मामले पर सरकार का कहना है कि ये धारा कश्मीर को देश से अलग करती है। अब सभी को इंतज़ार है तो बस इसका कि जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 35-ए और आर्टिकल 370 हट जाए और पूरा कश्मीर जिसे धरती का स्वर्ग कहते हैं वो हमारा हो जाए।

Share.