वायरल हुए वीडियो में कौन है ये लड़की जिसे संबित पात्रा बता रहे ‘ज़हर की खेती’

0

संबित पात्रा (Sambit Patra Against Afreen Fatima)  को कौन नहीं जाता है सोशल मीडिया (social media)पर हमेशा अपनी बेबाक राय रखते है | 26 जनवरी को उन्होंने एक वीडियो पोस्ट किया था | वीडियो पोस्ट करते हुए ऐसा कुछ लिख दिया कि बस उनकी सोशल मीडिया पर चर्चा होने लगी | जो वीडियो उन्होंने पोस्ट किया था वो एक लड़की था जिसमे वो (Sambit Reaction On Fatima) लड़की माइक पर कुछ बोल रही है इस वीडियो के साथ उस लड़की को लिखते है पात्रा (Sambit Patra) जी की कि ये ज़हर की खेती है अब क्यों लिखा वो तो बताएगे ही उससे पहले ये वीडियो देख लीजिये की ये लड़की आखिर बोल क्या रही है जो पात्रा जी ने ऐसा लिख दिया तो देखा अपने ये वीडियो , वीडियो में लड़की कह रही है कि आज जब हम उतरे हैं, CAA-NRC की वजह से उतरे हैं, लेकिन सिर्फ उसके खिलाफ नहीं उतरे हैं|

संबित पात्रा के खिलाफ भोपाल में वारंट जारी..

वायरल हुए वीडियो में कौन है ये लड़की जिसे संबित पात्रा बता रहे 'ज़हर की खेती'

संबित पात्रा को कौन नहीं जाता है सोशल मीडिया पर हमेशा अपनी बेबाक राय रखते है | 26 जनवरी को उन्होंने एक वीडियो पोस्ट किया था | वीडियो पोस्ट करते हुए ऐसा कुछ लिख दिया कि बस उनकी सोशल मीडिया पर चर्चा होने लगी | जो वीडियो उन्होंने पोस्ट किया था वो एक लड़की था जिसमे वो लड़की माइक पर कुछ बोल रही है इस वीडियो के साथ उस लड़की को लिखते है पात्रा जी की कि ये ज़हर की खेती है अब क्यों लिखा वो तो बताएगे ही उससे पहले ये वीडियो देखलीजिये की ये लड़की आखिर बोल क्या रही है जो पात्रा जी ने ऐसा लिख दिया तो देखा अपने ये वीडियो , वीडियो में लड़की कह रही है कि आज जब हम उतरे हैं, CAA-NRC की वजह से उतरे हैं, लेकिन सिर्फ उसके खिलाफ नहीं उतरे हैं. CAA NRC के बाद हम रियलाइज करते हैं कि हमारा कोई भरोसा ही नहीं है किसी चीज़ पर. न हम सरकार पर भरोसा कर सकते हैं, न हम सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा कर सकते हैं.

Talented India News द्वारा इस दिन पोस्ट की गई बुधवार, 29 जनवरी 2020

CAA NRC (Sambit Patra Against Afreen Fatima) के बाद हम रियलाइज करते हैं कि हमारा कोई भरोसा ही नहीं है किसी चीज़ पर. न हम सरकार पर भरोसा कर सकते हैं, न हम सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा कर सकते हैं. ये वही सुप्रीम कोर्ट है जिसने ‘कलेक्टिव कौन्शियंस के लिए अफ़जल गुरु (Afzal Guru) को फांसी पर चढ़ाया था. ये वही सुप्रीम कोर्ट है जिसको आज पता चलता है कि पार्लियामेंट अटैक में अफ़जल गुरु (Afzal Guru) का कोई हाथ नहीं था. ये वही सुप्रीम कोर्ट है जो बोलती है कि बाबरी मस्जिद (Ayodhya Verdict) के नीचे कोई मंदिर नहीं था. ताला तोड़ना गलत था. मंदिर/मस्जिद (Babri Masjid) गिराना गलत था. और फिर बोलती है कि यहां पर मंदिर बनेगा. हमको सुप्रीम कोर्ट से कोई उम्मीद नहीं है| कौन है ये लड़की जिसे न सरकार पर भरोसा न सुप्रीम कोर्ट पर बता दें इस लड़की का नाम है आफ़रीन फातिमा. (Afrin Fatima) फातिमा इलाहबाद के रहने वाली है  ये JNU के दूसरी ब्रांच स्कूल ऑफ लैंग्वेज एंड कल्चरल स्टडीज़ की स्टूडेंट है |

Video : सोशल मीडिया पर वायरल हुआ ममता बनर्जी का छी-छी सांग

इस स्कूल में काउंसलर पद पर आफ़रीन फातिमा (Sambit Patra Against Afreen Fatima) चुनी गईं | कॉउंसलर पद का मतलब आप को पता होगा स्कूल का ध्यान रखना काम समय पर हो रहा है या नहीं उसी की ज़िम्मेदारी उठाती है फातिमा , 2018 में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) विमेंस कॉलेज की प्रेसिडेंट चुनी गई थीं. वहां वो बीए लैंग्वेज की स्टूडेंट रहीं. 2019 में मास्टर्स के लिए JNU में एडमिशन लिया| जब फातिमा का ये वीडियो सोशल मीडिया (viral video social media) पर आया तब से सभी की नज़र में आ गई  उसके बाद फिर क्या था सबने जानने की कोशिश कि आखिर है कौन ये फ़ातिमा तो फिर  फातिमा (Afreen Fatima) के पुराने ट्वीट सामने आए तो उसमे पता चला कि उन्होंने शरजील इमाम के समर्थन में भी ट्वीट कर रखे थे| शरजील इमाम इस वक़्त ख़बरों में है . उसने एक भड़काऊ बयान दिया था. इस बयान के बाद से ही पुलिस उसकी तलाश में जुट गई थी और कल वो पकड़ा भी गया था | तो अब देखिये ये तो पता चल गया कि फातिमा कौन है न प्रेसिडेंट है ना न कहीं की सेक्रेटरी है बस काउंसलर है जो दोनों पार्टियों से खेलने की कोशिश कर रही है |

इटेलियन रंग पर इतना गुमान न कर, 23 मई को उतर जाएगा : पात्रा

Vagisha Pandey

Share.