website counter widget

RSS ने ओवैसी को क्यो बताया ‘मेंटल केस’ जानिए

0

देश के कई राज्यों में विधानसभा चुनाव (Assembly election 2019 ) होने वाले हैं और राजनीतिक पार्टियों में बयानबाजी शुरू गई है। ऐसे ही राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) और राष्ट्रीय मुस्लिम मंच (National Muslim Forum) के बीच तीखी बहस शुरू हो गई है। असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) की मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) पर की गई टिप्पणी के बाद राजनीतिक जगत में बहस तेज हो गई है। अब ओवैसी के बयान (Asaduddin Owaisi statement) के कारण उन्हें मेन्टल केस कहा जा रहा है।

असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने मोहन भागवत के बयान पर कहा था कि भारत ना ही हिंदू राष्ट्र था, ना है और ना बनेगा। इस पर राष्ट्रीय मुस्लिम मंच के संयोजक इंद्रेश कुमार (Indresh Kumar) ने कहा है कि ओवैसी मेंटल केस है। राष्ट्रीय मुस्लिम मंच के संयोजक इंद्रेश कुमार (Indresh Kumar) ने असदुद्दीन ओवैसी पर निशाना साधते  हुए कहा कि भारत से सुंदर देश नहीं है, क्योंकि यहां का मूल स्वभाव हिन्दू है। भारतीय है, हिंदुस्तानी है। ओवैसी मेन्टल केस है।

क्या था ओवैसी का बयान ?

ओवैसी ने मोहन भागवत के लिए कहा कि मोहन भागवत भारत को हिंदू राष्ट्र बनाकर यहां से मेरा इतिहास नहीं बदल सकते हैं। यह नहीं चलेगा। वह इस बात को हम पर नहीं थोंप सकते कि हमारी संस्कृतियां, आस्थाएं, पंथ और व्यक्तिगत पहचान सब हिंदू धर्म से जुड़ी हैं। भारत ना कभी हिंदू राष्ट्र था, ना है और ना कभी बनेगा इंशा अल्लाह। इसके बाद अब उन्होने एक और ट्वीट किया था, जिसमें लिखा था कि इस कुछ फर्क नहीं पड़ता कि भागवत हमें कैसे विदेशी मुस्लिमों के साथ जोड़ते हैं, यह किसी भी तरह से मेरी भारतीयता को कम नहीं करेगा। हिंदू राष्ट्र का मतलब हिंदू प्रभुत्व, यह हमारे लिए अस्वीकार्य है।  हम खुश है या नहीं इसका पैमाना संविधान के आधार पर होगा ना कि बहुमत की उदारता पर।

    – Ranjita Pathare 

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.