कबूतर ले सकते हैं हमारी जान, शोध में हुआ खुलासा

0

कबूतर (Pigeon) जिसे शांति का दूत माना जाता है और जो पुराने समय का डाकिया है और हर जगह आसानी से देखने को मिल जाता है। वहीं कबूतरों को लोग पालते भी हैं और कई शहरों में कई जगह पर कबूतरों को दाना डालते हुए भी लोगों को देखा जा सकता है। लेकिन अब इन्हीं कबूतरों को लेकर एक बेहद ही चौकाने वाला खुलासा हुआ है। वैसे तो इन्हे शांति का प्रतीक माना जाता है लेकिन इनके करीब रहने से कई तरह की जानलेवा बीमारियां (Diseases Caused by Pigeon) हो सकती हैं। आज भी ऐसे कई परिवार हैं जो कबूतरों को बड़े शौक से पालते हैं लेकिन वे सभी इस बात से अनजान हैं कि कबूतरों की बीट और उनके पंख इंसान को सिर्फ बीमार ही नहीं बनाते बल्कि उनकी जान भी ले सकते हैं।

अब रात में अकेले सफर करने वाली को पुलिस की गाड़ी घर तक छोड़ेगी

जी हां यह खुलासा हुआ है कबूतरों पर किए गए एक शोध से। इस शोध को लेकर शोधकर्ताओं का कहना है कि कबूतर (Pigeon) की बीट में इंफेक्शन पैदा करने की ऐसी शक्ति है जिससे व्यक्ति के फेफड़ों को बेहद ज्यादा नुकसान पहुंचता है। सबसे बड़ी बात तो यह है कि फेफड़ों में होने वाले इस इंफेक्शन का जल्दी पता भी नहीं चलता। अगर कबूतर ने आपके घर में लगे एसी (AC) मतलब एयर कंडीशनर के पास अपना घोंसला बनाया हुआ है तो यह इस खतरे (Diseases Caused by Pigeon) को  और भी कई गुना बढ़ा देता है। अपने भी इस बात पर गौर किया होगा कि जहां कहीं भी कबूतर रहते हैं उस जगह बेहद ही अजीब तरह की दुर्गन्ध आती है। लेकिन कबूतर उसी जगह पर बैठना और रहना पसंद करते हैं जहां ये बीट करते हैं।

बिहार में दिनदहाड़े किए गए कत्ल का खौफनाक Video Viral

शोधकर्ताओं ने पाया कि जब इन कबूतरों की बीट सूख जाती है तो यह एक पाउडर की शक्ल ले लेती है। वहीं कबूतर उसी जगह बैठते हैं जहां वे बीट करते हैं तो बीट का पाउडर उनके पंख से चिपक जाता है। जब कबूतर अपने पंख को फड़फड़ाते हैं तो यह पाउडर उड़ता है और सांस के जरिए हमारे शरीर में प्रवेश कर जाता है। सांस द्वारा यह पाउडर सीधे हमारे फेंफड़ों तक पहुंच जाता है और हमें बीमार बना देता है। शोधकर्ताओं ने पता लगाया है कि कबूतरों की बीट से इंसान कई खतरनाक और जानलेवा बीमारियां (Diseases Caused by Pigeon) हो सकती हैं।

Video : SP हरदोई अकेली जा रही लड़की को लेकर पहुंचे होटल और…

Prabhat Jain

Share.