महाभियोग का प्रस्ताव ख़ारिज

0

कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों द्वारा मुख्य न्यायाधीश के खिलाफ़ दायर महाभियोग की याचिका को उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने ख़ारिज कर दिया है| गौरतलब है कि पिछले दिनों कांग्रेस ने अन्य दलों के साथ मिलकर प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ़ महाभियोग की याचिका उपराष्ट्रपति को सौंपी थी, जिस पर आज फैसला लेते हुए उपराष्ट्रपति ने यह याचिका सिरे से ख़ारिज कर दी|

वेंकैया नायडू ने इस कदम को उठाने से पहले संविधान विशेषज्ञों से इस मसले पर सलाह-मशवरा किया था। कांग्रेस के नेतृत्व में सात दलों में चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग का प्रस्ताव उपराष्ट्रपति को दिया था। कांग्रेस ने सीपीएम, सीपीआई, एसपी, बीएसपी, एनसीपी और मुस्लिम लीग के समर्थन का पत्र उपराष्ट्रपति को सौंपा था|  सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के खिलाफ कभी भी महाभियोग का प्रस्ताव नहीं आया था। कानून के कई जानकार इसे अभूतपूर्व कदम बता रहे थे।

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग का प्रस्ताव लाने के साथ ही कांग्रेस और आक्रामक हो गई है| कांग्रेस नेता और सुप्रीम कोर्ट में अरसे से प्रैक्टिस कर रहे कपिल सिब्बल ने ऐलान कर दिया है कि यदि जस्टिस दीपक मिश्रा रिटायरमेंट तक पद पर बने रहते हैं तो वे उनकी कोर्ट में पेश नहीं होंगे|

Share.