नए नोट में ‘रानी की बावड़ी’ का गुजरात से कनेक्शन

0

अब आपके पास कुछ दिनों में 100 रुपए के नए रंग के नोट आ जाएंगे| नए रंग के कारण वे नोट अभी चर्चा ने बने हुए हैं कि आखिर कैसा होगा यह नोट? दरअसल, भारतीय रिजर्व बैंक जल्द ही 100 रुपए का नोट लॉन्च करने जा रहा है, जिसकी छपाई का काम भी शुरू हो गया है| इस नोट से जुड़ी ‘रानी की बावड़ी’ भी चर्चा का विषय बनी है|

क्यों ख़ास है रानी की बावड़ी ?

नए नोट के पीछे गुजरात की फेमस ‘रानी की बावड़ी’ की भी तस्वीर होंगी| यह बावड़ी गुजरात के पाटन गांव में सरस्वती नदी के किनारे स्थित है| इसका निर्माण 11वीं शताब्दी में किया गया था, जिसे यूनेस्को वर्ल्ड हेरिटेज साइट में भी शामिल किया गया है| इस बावड़ी में एक छोटा गेट हैं, जिसमें 30 किलोमीटर से ज्यादा लंबी एक सुरंग है, इस सुरंग को मिट्टी और पत्‍थरों से ढंक दिया गया है ताकि इसमें किसी प्रकार की कोई घटना न हो| भूमिगत जल संसाधन और जल संग्रह प्रणाली का यह एक उत्कृष्ट उदाहरण है|

कलाकृतियां और मूर्तियां 

इस बावड़ी में बहुत सी कलाकृतियां और भगवान विष्णु की कई मूर्तियां हैं| इसमें भगवान् के दशावतार के रूप में मूर्तियों का निर्माण किया गया है| इन मूर्तियों में कल्कि, राम, कृष्ण, नरसिम्हा, वामन, वराह और दूसरे मुख्य अवतार की मूर्तियां भी शामिल हैं| सात मंज़िला इस वाव में मारू-गुर्जर स्‍थापत्‍य शैली का सुन्‍दर उपयोग किया गया है, जो जल संग्रह की तकनीक, बारीकियों और अनुपातों की अत्यंत सुंदर कला क्षमता की जटिलता को दर्शाता है|

नए नोट में पुराने नोट की तरह ही महात्मा गांधी की तस्वीर है, अशोक स्तंभ, प्रॉमिस क्लॉज़ और अन्य फ़ीचर्स के साथ मौजूदा गवर्नर उर्जित पटेल के हस्ताक्षर होंगे| इसके पीछे ‘रानी की बावड़ी’ की फोटो है| ये नोट बैगनी रंग के होंगे, जो अगले महीने तक आपके पास आ सकते हैं|

Share.