लाखों लोगो के दिल को छू गया रतन टाटा का ये वीडियों ‘मेरा बाबा देश चलाता है’

0

देश के जाने माने और सबसे ईमानदार उद्योगपतियों में से एक रतन टाटा (Ratan Tata Video Viral on Instagram) ने इंस्टाग्राम पर दिल को छू लेने वाले एक वीडियो को शेयर किया है. ये वीडियो टाटा ट्रस्ट्स की पहल ‘मिशन गरिमा’ का हिस्सा है. टाटा ट्रस्ट्स के चेयरमैन रतन टाटा ने 2 मिनट के इस वीडियो को इंस्टाग्राम पर शेयर किया और कैप्शन में लिखा, ”मिशन गरिमा, हमारे बहादुर सफाई कार्यकर्ताओं के लिए.” इस विज्ञापन के शेयर होने के बाद ट्विटर पर #TwoBinsLifeWins हैशटैग वायरल (viral hashtag) हो रहा है.

आपको बता दें कि शेयर (Ratan Tata Video Viral on Instagram)  किया गया विज्ञापन एक स्कूली छात्र के साथ शुरू होता है, जो एक प्रतियोगिता के दौरान अपने सहपाठियों और उनके माता-पिता को संबोधित करता है. वो कहता है, ‘मेरा बाबा देश चलाता है.’ जैसे ही उसने ऐसा कहा तो लोग समझ नहीं पाए, जिसके बाद बच्चा कहता है कि उसके पिता राजनेता, डॉक्टर, पुलिस या फिर आर्मी के जवान नहीं हैं. अगर नहीं जाएगा मेरा बाबा काम पर तो रुक जाएगा इंडिया का हर घर.” फिर कहता है कि उसके पिता वो काम करते हैं जो कोई पिता नहीं करना चाहेगा.

ऑनलाइन शॉपिंग करने वाले पढ़ें यह खबर, लग सकता है चूना

फिर ऐड में दिखाया जाता है (Ratan Tata Video Viral on Instagram) कि सफाई कर्मचारी नाले में घुसता है. स्कूली छात्र कहता है देश के लोग सूखा और गीला कचरा अलग-अलग नहीं करते, इसलिए मेरे बाबा को गटर में उतरना पड़ता है और खुद को जोखिम में डालना पड़ता है. वो कहता है, ”कभी-कभी लगता है मेरा बाबा बीमारी से हार जाएगा. कभी-कभी लगता है मेरा बाबा घर लौटकर नहीं आएगा. मेरे बाबा को बचाओ. इस देश को मेरे बाबा से मत चलवाओ.”

अलविदा नैनो, कारण जानिए !

https://www.instagram.com/tv/B8soEHunMXf/?utm_source=ig_web_copy_link

रतन टाटा (Ratan Tata Video Viral on Instagram)  ने कैप्शन में लिखा, ”23 मिलियन निवासियों के शहर, मुंबई में स्वच्छता कर्मियों के रूप में केवल 50,000 व्यक्ति कार्यरत हैं और वे हर दिन कठिन परिस्थितियों में काम करते हैं. मिशन गरिमा उन सफाई कर्मचारियों के लिए काम कर रही है. जो शहर में अकल्पनीय काम कर रहे हैं. ताकी हम सफाई से रह सकें.” अपने पोस्ट में, उन्होंने पाठकों से स्वच्छता कर्मियों पर बोझ को कम करने के लिए उनके बायोडिग्रेडेबल और गैर-बायोडिग्रेडेबल कचरे को अलग करने का भी आग्रह किया. आखिर में वो लिखते हैं, ”आखिरकार, यह देश हम में से हर एक व्यक्ति द्वारा चलाया जाता है.”

रतन टाटा (Ratan Tata Video Viral on Instagram)  ने 18 जनवरी की सुबह इस वीडियो को शेयर किया था, जिसके अब तक 1 लाख से ज्यादा व्यूज हो चुके हैं. सोशल मीडिया पर रतन टाटा की इस पहल को खूब सराहा जा रहा है. एक यूजर ने लिखा, ”दिल को छू लेने वाला संदेश… हम सभी को अपनी जिम्मेदारियों के प्रति थोड़ा और जागरूक होने की जरूरत है.” वहीं अन्य यूजर ने लिखा, ”एक अद्भुत पहल, इस वीडियो को जरूर देखना चाहिए.”

दिसंबर में, शिवसेना ने मुंबई में सेप्टिक टैंक में सफाई कर्मचारियों की मौत पर चिंता व्यक्त की थी, घटना में तीन सफाई कर्मचारियों की दम घुटने से मौत हो गई थी.

ब्रिटिश विवि ने रतन टाटा को डॉक्टरेट की उपाधि दी-

इसके अलावा आपको बता दें हाल ही में रतन टाटा को नवाचार और परोपकार में योगदान के लिए मैनचेस्टर विश्वविद्यालय ने डॉक्टरेट की मानद उपाधि से सम्मानित किया है. ब्रिटेन के विश्वविद्यालय ने कहा कि हाल में कुलपति प्रोफेसर डेम नैन्सी रोथवेल की भारत यात्रा के दौरान 82 वर्षीय उद्योगपति को यह उपाधि दी गयी.

आगे रोथवेल ने कहा कि रतन टाटा बेहद प्रेरणादायक हैं. उन्होंने बड़े कारोबार तथा छोटे उद्यमों के लिए, शोधकर्ताओं के लिए उदाहरण पेश किया है.
मैनचेस्टर विश्वविद्यालय ने कहा कि रतन टाटा (Ratan Tata Video Viral on Instagram)  को डॉक्टरेट की मानद उपाधि से नवाजे जाने की वजह उनकी सामाजिक जिम्मेदारी और साथ ही उनके परोपकारी कार्य हैं. रतन टाटा ‘टाटा ट्रस्ट’ के माध्‍यम से समाज की भलाई करने का काम करते हैं.

आपको बता दें कि रतन टाटा (Ratan Tata) ने वर्ष 1991 में टाटा की कमान संभाली थी. उनके कार्यकाल में टाटा समूह ने कई नयी ऊंचाइयों को छुआ. उनका नाम आज देश के सबसे ईमानदार उद्योगपतियों में शामिल है. रतन टाटा को साल 2000 में भारत के तीसरे सबसे बड़े नागरिक सम्मान पद्म भूषण से नवाजा गया था. यही नहीं साल 2008 में उन्हें पद्म विभूषण से भी सम्मानित किया गया था.

जेआरडी टाटा : भारतीय नागरिक उड्डयन के जनक

-मृदुल त्रिपाठी

Share.