बलात्कारी को अब 21 दिन में होगी फांसी

0

दिल्ली के निर्भया कांड (Nirbhaya Rape Case, Delhi )के बाद देश भर में काफी हँगामा हुआ, लेकिन फिर भी ऐसे मामलों में कमी नहीं आई।  हैदराबाद में पशु चिकित्सक के साथ बलात्कार और हत्या (Hyderabad doctor rape and murder case ) के बाद फिर से देशभर में हंगामा हुआ और दुष्कर्मियों को फांसी देने की मांग की गई। जनता से सरकार से नए कानून बनाने की मांग की। अब कहा जा रहा है कि सरकार ने बलात्कारियों को फांसी देने के संबंध में बड़ा फैसला लिया है। नए कानून  के तहत बलात्कारियों को 21 दिन में फांसी (Rapists hanged in 21 days) पर लटकाया जाएगा।

महाराष्ट्र में फिर बीजेपी-शिवसेना की सरकार!

आन्ध्रप्रदेश सरकार का बड़ा फैसला

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगनमोहन रेड्डी (Andhra Pradesh Chief Minister YS Jaganmohan Reddy ) ने बलात्कारियों के लिए एतिहासिक (New law of Andhra Pradesh, rapists hanged in 21 days) फैसला लिया है। सीएम रेड्डी की अध्यक्षता में हुई बैठक में महिलाओं के खिलाफ यौन हिंसा के मामलों में आरोपी को मौत की सज़ा देने के प्रस्ताव पर मंजूरी मिल गई है। इस नए कानून के अनुसार एफआईआर दर्ज होने के 21 दिनों के भीतर सजा के साथ-साथ मुकदमा पूरा करने का प्रस्ताव है और साथ ही सजा देने का भी प्रावधान रखा गया है।

2019 की 10 घटनाएं जिनसे बदली देश की राजनीति

अभी बलात्कारियों को मौत की सज़ा देने का कोई भी प्रावधान देश में नहीं है। यदि आंध्र प्रदेश विधानसभा में यह बिल पास हो जाता है तो बलात्कारियों को फांसी के संबंध में कानून बनाने वाला आंध्र प्रदेश पहला राज्य बन जाएगा। इसके साथ ही सरकार ने महिलाओं और बच्चों के खिलाफ अपराधो को रोकने के लिए फास्ट-ट्रैक कोर्ट बनाने को लेकर भी स्वीकृति दी है। सरकार ने कहा है कि सभी जिलों में विशेष कोर्ट स्थापित किए जाएँगे। इस नए कानून को आंध्र प्रदेश दिशा एक्ट (Andhra Pradesh Disha Act) , 2019कहा जाएगा। इसके पहले मध्यप्रदेश सरकार ने भी  ऐसा कानून बनाया था, लेकिन उस कानून में 12 साल तक की बच्चियों से यौन उत्पीड़न करने पर आरोपी को फांसी देने का प्रावधान बनाया गया।

Hyderabad Encounter पर सुप्रीम कोर्ट की सख्त कार्रवाई

          – Ranjita Pathare

 

Share.