Richa Bharti Video : कोर्ट ने युवती को दी कुरान बांटने की सज़ा, लेकिन …

0

सोशल मीडिया (Social Media) पर धर्म को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाली ऋचा भारती ( Richa Bharti ) को राहत मिल गई है। इस मामले में कोर्ट ने अनोखी सज़ा सुनाई। पिठोरिया के सोनार मोहल्ला की 19 वर्षीय ऋचा भारती को न्यायिक दंडाधिकारी मनीष कुमार सिंह की अदालत ने सशर्त सजा सुनाई, लेकिन ऋचा भारती ने निचली अदालत के फैसले को मानने से इन्कार कर दिया है। दरअसल, कोर्ट ने पांच कुरान बांटने की सज़ा सुनाई थी।

फेसबुक पर कमेंट किया, “कमलनाथ को बम से उड़ा दूंगा मैं”

कोर्ट का फैसला नहीं मानेगी ऋचा

ऋचा ने कहा है कि मैं कुरान बांटने नहीं जा रही हूं। हमारा परिवार निचली अदालत के इस फैसले पर विचार कर रहा है (Richa Bharti)। हम ऊपरी अदालत का दरवाजा खटखटाएंगे। ऋचा पटेल से जब यह पूछा गया कि कोर्ट ने उन्हें इसी शर्त पर जमानत दी है। इसके जवाब में ऋचा ने कहा कि नहीं, मैं कोर्ट का आदेश नहीं मानने जा रही हूं। आज मुझे कुरान बांटने के लिए बोल रहे हैं, कल बोलेंगे इस्लाम स्वीकार कर लो, नमाज पढ़ लो, कुछ और कर लो। यह कहां तक जायज है।

Video: SDM के चैंबर में बीजेपी विधायक की दादागिरी

जानकारी के अनुसार, जज ने कहा था कि आरोपित को 15 दिनों के अंदर पांच कुरान बांटना होगा। अगर इसकी अवहेलना की गई तो जमानत रद्द हो सकती है। सात हजार के दो निजी बांड जमा करने के बाद सोमवार को ऋचा जेल से बाहर आ गई। सोशल साइट पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने को लेकर 12 जुलाई को सदर अंजुमन कमेटी, पिठोरिया द्वारा थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। शिकायतकर्ता की ओर से कहा गया कि पिछले तीन दिनों से ऋचा फेसबुक साइट पर धर्म विशेष के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी कर रही है। इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। दूसरी ओर हिंदू जागरण मंच सहित कुछ अन्य धार्मिक संगठनों ने ऋचा की गिरफ्तारी को गलत बताते हुए रविवार को रांची में विरोध मार्च किया था (Richa Bharti )।

मुंबई में कभी भी गिर सकती है 600 इमारतें ! बेफिक्र रह रहे लोग

Share.