website counter widget

Ayodhya Hearing Concludes : 8 नवंबर को आ रहा है अयोध्या भूमि विवाद पर फैसला!

0

रामजन्म भूमि और बाबरी मस्जिद (Ramjanmabhoomi and Babri Masjid dispute) पर सालों से विवाद चला आ रहा है, लेकिन इस मामले पर जल्द ही फैसला आने वाला है। कहा जा रहा है कि 8 नवंबर को यह तय हो जाएगा कि अयोध्या (Ayodhya Hearing Concludes) में स्थित विवादित स्थल पर राम मंदिर बनेगा या बाबरी मस्जिद (Babri Masjid)या कोई अन्य ही रास्ता निकाला जाएगा। 16 अक्टूबर को चीफ जस्टिस रंजन गोगाई (Chief Justice Ranjan Gogai)  की अध्यक्षता वाली बेंच ने इस मामले पर सुनवाई के बाद अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है।

Article 370 हटाकर भारत ने खोया कश्मीर!

राजीव धवन के खिलाफ केस

सुप्रीम कोर्ट ने लिखित हलफनामा, मोल्डिंग ऑफ रिलीफ (Molding of relief) को लिखित में जमा करने के लिए तीन दिन का समय दिया है। इस मामले पर शीर्ष न्यायालय में लगातार 40 दिन तक सुनवाई होती रही। आज  भी  इस मामले की सुनवाई शाम 5 बजे तक होनी थी, लेकिन तय समय से पहले इस मामले की सुनवाई पूरी हो गई थी। मुस्लिम पक्षकारों की ओर से बहस करने वाले वरिष्ठ अधिवक्ता राजीव धवन (Senior Advocate Rajiv Dhawan) ने बुधवार को संविधान पीठ के समक्ष भगवान राम के सही जन्मस्थल को दर्शाने वाला सचित्र नक्शा फाड़ दिया था अब उनके खिलाफ मामला दर्ज करवाने की तैयारी कर रहे हैं।

पाक की बौखलाहट एक बार फिर आई सामने

संविधान पीठ ने अयोध्या में 2.77 एकड़ विवादित भूमि को तीन पक्षकारों-सुन्नी वक्फ बोर्ड, निर्मोही अखाड़ा और राम लला- के बीच बराबर-बराबर बांटने का आदेश देने संबंधी इलाहाबाद उच्च न्यायालय के सितंबर, 2010 के फैसले के खिलाफ दायर 14 अपीलों पर सुनवाई की है। वहीं अब यह भी कहा जा रहा है कि मध्यस्थता पैनल ने तीन कोर्ट के समाने तीन शर्तें रखी हैं, जिनहे पूरा करने के बाद वे अयोध्या में विवादित स्थल पर राम मंदिर का निर्माण बिना किसी हंगामे के होने देंगे। मध्यस्थता पैनल की तीन शर्तों में कहा गया है कि 1991 के कानून पालन का पालन किया जाए, जिसमें विवादित स्थल पर सभी को प्रार्थना के लिए जगह दी गई थी। अयोध्या में स्थित सभी मस्जिदों की मरम्मत कारवाई जाए और दूसरे स्थान पर वक्फ बोर्ड को मस्जिद निर्माण के लिए जगह दी जाये।

रेल होस्टेस का काम सेल्फी कर रही नाकाम

    – Ranjita pathare

ट्रेंडिंग न्यूज़
Share.