हम पहले परमाणु बम इस्तेमाल नहीं करेंगे, लेकिन भविष्य का हमें नहीं पता – राजनाथ सिंह

0

जब से जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाया गया है तब से पाकिस्तान पूरी तरह से बौखला गया है। पाकिस्तान लगातार ही भड़काऊ बयान दे रहा है और युद्ध की गीदड़ भभकी से भारत को धमकाने का प्रयास कर रहा है। कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद से लगातार ही पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की घबराहट और बौखलाहट साफ़ तौर पर दिखाई दे रही है। लेकिन अब भारत की तरफ से भी पाकिस्तान को उसी की भाषा में करारा जवाब दे दिया गया है।

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh)  ने परमाणु बम का बार-बार जिक्र करने वाले पाक को खुली चेतावनी देते हुए सीधे शब्दों में कह दिया कि भारत की परमाणु नीति ‘नो फर्स्ट यूज’ की है। मतलब भारत कभी परमाणु हमले की पहल तो नहीं करेगा लेकिन भविष्य में क्या होगा इसके बारे में हम कुछ नहीं कह सकते। यह भविष्य की परिस्थितियों पर निर्भर करता है।

पीएम मोदी के भाषण के कायल हुए यह वरिष्‍ठ कांग्रेसी नेता

गौरतलब है कि आज पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) की प्रथम पुण्यतिथि है। इस अवसर पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) शुक्रवार को अटल बिहारी (Atal Bihari Vajpayee)  को श्रद्धांजलि देने के लिए पोखरण पहुंचे। अटल बिहारी को श्रद्धांजलि देने के बाद राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा,  “भारत एक जिम्मेदार परमाणु राष्ट्र का दर्जा रखता है और हर नागरिक के लिए यह राष्ट्रीय गौरव है। यह गौरव हमें अटलजी की बदौलत मिला है और देशवासी सदैव इसके लिए उनका ऋणी है।”

Pehlu Khan Mob Lynching Case : पहलू खान मामले पर मायावती ने तोड़ी चुप्पी

साल 1998 में दुनिया के तमाम देशों के विरोध के बावजूद भी मई माह में भारत ने परमाणु परीक्षण किया था। यह परमाणु परीक्षण अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) सरकार में किया गया था। राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) शुक्रवार को इंटरनेशनल आर्मी स्काउट मास्टर्स प्रतियोगिता के समापन समारोह में शामिल होने के लिए जैसलमेर पहुंचे थे। यहां के कार्यक्रम के बाद वे पोखरण पहुंचे जहां उन्होंने अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) को श्रद्धांजलि दी और पाक को चेतावनी दी।

Article 370 पर अमित शाह ने कही ये बड़ी बात

उन्होंने मीडिया को सम्बोधित करते हुए कहा कि फिलहाल तो भारत की पॉलिसी ‘नो फर्स्ट यूज’ है। लेकिन भविष्य में हमारी न्यूक्लियर पॉलिसी है परिस्थितियों पर निर्भर करेगी जिसके बारे में हम कुछ नहीं कह सकते। मतलब आगे इस नीति में बदलाव होगा या नहीं यह बात परिस्थितियों पर निर्भर करेगी।

Share.