जेल के बाहर राजीव गांधी की हत्या की दोषी नलिनी

0

पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (Rajiv Gandhi) की हत्या के मामले में सज़ा काट रही नलिनी श्रीहरन (Nalini Sriharan) आज यानी गुरूवार को जेल से बाहर आ गई (Rajiv Gandhi Assassination Convict Nalini Released ) है। मद्रास हाईकोर्ट ने उसकी अर्जी स्वीकार कर ली थी। नलिनी श्रीहरन को बेटी की शादी की तैयारियों के लिए जेल से एक माह के लिए रिहा (Rajiv Gandhi Killer Nalini Released For Month ) कर दिया गया है, उसने इसके लिए छह महिने की पेरोल की मांग की थी।

महिला के पेट से निकले 1.5 किलो के सोने-चांदी गहने

उम्र कैद की सज़ा भुगत रही नलिनी

नलिनी (Rajiv Gandhi Killer Nalini Released For Month ) को राजीव गांधी की वर्ष 1991 में हुई हत्या के मामले में उम्रकैद की सज़ा सुनाई थी। कोर्ट ने उसकी परोल की मांग को 5 जुलाई को स्वीकार कर ली थी।  हालांकि उन्हें सिर्फ 30 दिन की ही परोल मिल (Rajiv Gandhi Assassination Convict Nalini Released ) पाई है। नलिनी की बेटी लंदन में रहती है। उसे पिछले साल भी एक दिन के लिए परोल पर रिहा किया गया था, जब उसके पिता का देहांत हुआ था। इस बार पेरोल के लिए नलिनी ने खुद ही अपनी पैरवी की थी। उसने कहा था कि हर दोषी दो साल की जेल की सजा के बाद एक महीने की साधारण छुट्टी का हकदार होता है और उसने पिछले 27 साल में एक बार भी छुट्टी नहीं ली है, जिसके बाद उसे 30 दिन की पेरोल दी गई।

Triple Talaq Bill : ट्रंप मामले से ध्यान हटाने के लिए ट्रिपल तलाक बिल लाई भाजपा!

21 मई 1991 को हुई पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या (Rajiv Gandhi Killer Nalini Released For Month ) मामले में तमिलनाडु सरकार ने उम्रकैद की सजा काट रहे 7 दोषियों की रिहाई के लिए मद्रास हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था। डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने कहा था कि संविधान की धारा 161 के तहत सातों को रिहा करने का आग्रह किया जा चुका है।  चेन्नई के पास एक चुनावी रैली में राजीव गांधी से मिलने के दौरान लिट्टे संगठन की आत्मघाती हमलावर महिला ने खुद को उड़ा लिया था । इसके बाद से सभी सातों दोषी 1991 से जेल में कैद हैं। उम्रकैद की सजा काट रहे सात दोषियों में पेरारीवलन, मुरुगन, नलिनी, शांतन, रविचंद्रन, जयकुमार और रॉबर्ट पायस  शामिल हैं।

Mob Lynching In Indore : इंदौर में बच्चा चोरी के आरोप में पिटाई

Share.